आज है महादेव से जुड़ा ये विशेष पर्व, पूजन विधि से दूर होंगी विवाह की समस्याएं

वैसे तो शिवरात्रि इस वर्ष 11 मार्चा हो मनाई जाएगी किन्तु आज मासिक शिवरात्रि मनाई जा रही है। प्रत्येक महीने पड़ने वाले पर्वों में मासिक शिवरात्रि की खास अहमियत होती है। मासिक शिवरात्रि प्रत्येक माह कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाई जाती है। यह उपवास बेहद सरल एवं प्रभावशाली है। मान्यता है कि इस दिन जो भी शख्स उपवास रखता है तथा पूरी श्रद्धा से शिव पूजन करता है उसकी सभी इच्छाएं पूरी होती हैं। इस दिन महादेव की आराधना कर आप महावरदान की प्राप्ति कर सकते हैं। 

मासिक शिवरात्रि का उपवास रखने और आराधना करने वाले व्यक्तियों की सारी परेशानियां दूर होती हैं। मान्यता है कि मासिक शिवरात्रि का उपवास करने से मनोवांछित वर की प्राप्ति होती है तथा शादी में आ रही रुकावटें दूर होती हैं। जिन व्यक्तियों की शादी में देरी हो रही हो या किसी तरह की परेशानी आ रही हो उन्हें भी मासिक शिवरात्रि का उपवास करने की सलाह दी जाती है। मासिक शिवरात्रि के दिन शिव चालीसा की बेहद अहमियत होती है। शिव चालीसा के सरल शब्दों से महादेव को खुश किया जा सकता है। 

स्नान करने के पश्चात् पीले या सफेद रंग के साफ वस्त्र धारण पहनें। पूजा वाले स्थान पर महादेव, माता पार्वती, गणेश जी, भगवान कार्तिकेय तथा महादेव के वाहन नंदी की मूर्ति स्थापित करें तथा उनकी पूजा करें। मासिक शिवरात्रि की पूजा में शिव परिवार को पंचामृत से स्नान कराया जाता है। पूजा में बेल पत्र, फल, फूल, धूप, दीप, नैवेद्य एवं इत्र अवश्य सम्मिलित करें। इस दिन उपवास करने वालों को शिव पुराण या शिवाष्टक का पाठ जरूर करना चाहिए। पूजा का समापन शिव आरती के साथ करें।

हिंदुओं के साथ मुस्लिमों के लिए भी उतना ही पूज्‍यनीय है यह शिवलिंग

इन राशिवालों के रिश्तों में आएगी मधुरता, यहाँ जानें आपका राशिफल

भोजन करते समय जरूर रखें दिशाओं का ध्यान, नहीं तो सेहत पर पड़ेगा भारी असर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -