पूर्व प्रधानमंत्री सिंह बोले 21वीं सदी चीन और भारत की

चंडीगढ़ : पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच तनावपूर्ण संबंध दक्षिण एशियाई क्षेत्र के विकास में बाधा हैं. उन्होंने कहा कि 21वीं सदी चीन और भारत की होगी और इस दौरान ‘सहयोग और प्रतिस्पर्धा’ दोनों देखने को मिलेगी. चंडीगड़ में ‘ग्रामीण और औद्योगिक विकास में अनुसंधान केंद्र’ (CRRID) द्वारा आयोजित सम्मेलन में सिंह ने कहाकि ‘पाकिस्तान की मौजूदा आंतरिक स्थिति और अफगानिस्तान में भविष्य के हालात चुनौती पेश करेंगे. हिंद महासागर क्षेत्र की भू-राजनीति भी भारत की विदेश नीति का आधार-बिंदु होगी.’

उन्होने कहा कि ‘दक्षिण एशिया में हमारी साझा धरोहर और संस्कृति को मजबूत बनाने के लिए हमारे प्रयास भू-राजनीति तथा भौगोलिक एवं आर्थिक असमानताओं की चुनौती से उबरने की हमारी नाकामी से बाधित रहे हैं.’ पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा ‘जो आपसी संबंध मजबूत करने की आधारशिला होना चाहिए, वह दक्षिण एशिया के देशों में नहीं दिखती. इस पर विचार करने की आवश्यकता है.'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -