Share:
20 साल बाद मणिपुर में फिर छलकेंगे जाम, राज्य सरकार ने शराब की बिक्री और खपत को दी मंजूरी
20 साल बाद मणिपुर में फिर छलकेंगे जाम, राज्य सरकार ने शराब की बिक्री और खपत को दी मंजूरी

इम्फाल: मणिपुर के 'Dry State' बनने के लगभग 20 साल बाद, राज्य मंत्रिमंडल ने सोमवार को राज्य भर में शराब की बिक्री और खपत को वैध कर दिया है। यह निर्णय मणिपुर के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह के नेतृत्व वाली राज्य कैबिनेट ने शराब की बिक्री से लगभग 6,000-7,000 करोड़ रुपये के वार्षिक राजस्व को ध्यान में रखते हुए लिया है। बैठक में राज्य ने शराब के निर्माण, उत्पादन, कब्ज़ा, निर्यात, आयात, परिवहन, खरीद, बिक्री और खपत को मंजूरी दे दी है।

एक अधिकारी ने बताया है कि सभी विवरणों और नियमों के साथ एक गजट अधिसूचना बुधवार को आधिकारिक तौर पर जारी की जाएगी। रिपोर्टों के अनुसार, 1991 में "मणिपुर शराब निषेध अधिनियम" लागू होने के बाद मणिपुर एक 'शुष्क राज्य' बन गया था। हालांकि, अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) समुदायों द्वारा शराब बनाने की छूट दी गई थी। बता दें कि, इम्फाल पश्चिम जिले में सेकमाई और फायेंग और इम्फाल पूर्व में एंड्रो राज्य में लोकप्रिय शराब बनाने वाले क्षेत्र हैं। 

सितंबर 2022 में, राज्य के राजस्व में वृद्धि और नकली शराब की खपत के कारण होने वाले स्वास्थ्य खतरों की जाँच की उम्मीद के साथ प्रतिबंध आंशिक रूप से हटा दिया गया था। आंशिक छूट के तहत जिला मुख्यालयों और कम से कम 20 बिस्तरों वाले होटलों में शराब की बिक्री और सेवन की अनुमति दी गई। इसके अतिरिक्त, स्थानीय स्तर पर बनी देशी शराब को राज्य के बाहर निर्यात किया जाएगा।

'बुखार था, इसलिए नहीं जा पाए..', INDIA गठबंधन की बैठक में जाने से इंकार करने पर बोले सीएम नितीश कुमार

पाकिस्तान में 'अज्ञात' लोगों ने लश्कर के आतंकी अदनान को गोलियों से भूना, यही था BSF और CRPF पर हुए हमले का मास्टरमाइंड

'दिल्ली बनेगा खालिस्तान, संसद पर हमला करेंगे..', आतंकी पन्नू ने तारीख के साथ दी धमकी, लगाया अफजल गुरु का पोस्टर

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -