चौकाने वाले हैं अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि से जुड़े यह 5 विवाद

लखनऊ: देशभर के लाखों संतों की शीर्ष संस्था अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का निधन हो गया है। आप सभी को बता दें कि वह बीते सोमवार को मृत मिले हैं। पिछले डेढ़ दशक से अधिक समय से महंत नरेंद्र गिरि लगातार विवादों से घिरे रहे हैं। आपको बता दें कि बाघंबरी गद्दी संभालने के बाद उनका साल 2004 से विवादों का सिलसिला शुरू हुआ और यह सिलसिला उनके अंतिम समय तक बना रहा। कभी पुलिस तो कभी राजनेता तो कभी संतों के साथ तनातनी के चलते वह विवादों में रहे। वहीं दूसरी तरफ उनका सबसे खास शिष्य आनंद गिरि इस समय विवाद में है क्योंकि महंत नरेंद्र गिरि ने अपने सुसाइड नोट में उसी का नाम लिखा है। फ़िलहाल हम आपको बताते हैं महंत नरेंद्र गिरि से जुड़े विवाद।

विवाद 1 - महंत नरेंद्र गिरि उस समय सुर्ख़ियों में रहे थे जब उन्होंने अपने सबसे खास शिष्य आनंद गिरि से दूरियां बना ली थी। जी दरअसल इन दोनों के बीच हरिद्वार कुंभ से दूरियां बढ़ गईं। कहा जाता है स्वामी आनंद गिरि पर परिवार से संबंध रखने और मठ-मंदिर के धन के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए नरेंद्र गिरि ने उनके बाघम्बरी गद्दी मठ और बड़े हनुमान मंदिर में प्रवेश पर रोक लगा दी थी। वहीं इसके बाद कई दिनों तक दोनों तरफ से आरोप-प्रत्यारोप लगते रहे और उसके बाद 26 मई को लखनऊ में आनंद गिरि ने गुरु का पैर पकड़कर माफी मांग ली थी। हालाँकि अब मौत के बाद महंत नरेंद्र गिरि अपने सुसाइड नोट में आनंद गिरी का ही नाम लिखकर गए हैं।

विवाद 2 - पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव महंत आशीष गिरि की 17 नवंबर 2019 को संदिग्ध स्थिति में मौत पर भी सवाल उठे थे। उस दौरान कई लोगों ने महंत नरेंद्र गिरि पर सवाल उठाए थे, हालांकि बाद में पुलिस जांच में कुछ नहीं निकला था।

विवाद 3 - नरेंद्र गिरि का विवाद साल 2012 में सपा नेता और हंडिया से विधायक रहे महेश नारायण सिंह से जमीन की खरीद फरोख्त को लेकर भी हुआ था। जी दरसल फरवरी साल 2012 में महंत ने सपा नेता महेश नारायण सिंह, शैलेंद्र सिंह, हरिनारायण सिंह व 50 अज्ञात के खिलाफ जार्ज टाउन में मुकदमा दर्ज कराया था। उस समय दूसरे पक्ष ने भी नरेंद्र गिरि, आनंद गिरि व दो अन्य के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

विवाद 4 - अपने गुरु महंत नरेंद्र गिरि से विवाद के बाद योग गुरु स्वामी आनंद गिरि ने मई में दो वीडियो जारी कर मंदिर के रुपयों के दुरुपयोग के आरोप लगाए थे। उस समय एक वीडियो में बार-बालाएं थिरक रही थीं और उनके साथ बड़े हनुमान मंदिर व मठ से जुड़े लोग डांस कर रहे थे। उन वीडियो में बार-बालाओं पर नोटों की बारिश भी की जा रही थी। वहीं दूसरे वीडियो में मंत्रोच्चार के बीच नोटों की बारिश हो रही थी। उस दौरान उन वीडियो में महंत नरेंद्र गिरि दूल्हा-दुल्हन को आशीर्वाद दे रहे थे।

विवाद 5 - नोएडा में दिल्ली-एनसीआर के सबसे बड़े डिस्को के साथ बीयर बार के संचालक सचिन दत्ता उर्फ सच्चिदानंद गिरि को 31 जुलाई 2015 को महामंडलेश्वर बनाने के विवाद में भी नरेंद्र गिरि का नाम आया था। उस समय बाघंबरी गद्दी में तत्कालीन कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव और पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश सिंह की मौजूदगी में नरेंद्र गिरि ने सचिन का पट्टाभिषेक कर निरंजनी अखाड़े का महामंडलेश्वर बनाया था।

आज कब है शुभ मुहूर्त और राहुकाल, यहाँ जानिए पंचांग

सेंसेक्स में आई इतने अंको की गिरावट, जानिए क्या रहा निफ़्टी का हाल

ग्रेटर नोएडा में 22 किलो ड्रग्स के साथ अफगानिस्तान के दो नागरिक हुए गिरफ्तार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -