शिवसेना को बचाने मैदान में उतरी रश्मि ठाकरे, संजय राउत बोले- 'आना ही पड़ेगा चौपाटी में'

मुंबई: महाराष्ट्र में इस समय चल रहे सियासी ड्रामा में भाजपा की एंट्री हो गई है। जी दरअसल बीते शनिवार देर शाम महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना के बागी गुट के नेता एकनाथ शिंदे की मुलाकात हुई है और दोनों नेताओं की मुलाकात के दौरान किन मुद्दों को लेकर बातचीत हुई है, ये सामने नहीं आ पाया है। हालाँकि इससे पहले एकनाथ शिंदे गुट ने बालासाहेब ठाकरे के नाम पर नई पार्टी बनाने के संकेत दिए हैं जिसके बाद तेवर दिखाते हुए उद्धव ठाकरे ने इस मुद्दे पर इलेक्शन कमिश्न जाने की बात कही है। बीते शनिवार को जो हाई वोल्टेज ड्रामा चला, उससे अभी लड़ाई लंबी खिंचने के संकेत मिल रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र जारी सियासी संकट के बीच शिवसेना के युवा कार्यकारिणी की बैठक होगी।

वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे भी मैदान में उतर चुकी हैं। जी दरअसल रश्मि ठाकरे गुवाहाटी में मौजूद बागी विधायकों की पत्नियों से संपर्क कर रहीं हैं और इस दौरान वे उन्हें अपने पतियों से बात करने के लिए मनाने की कोशिश करने को कह रही हैं। वहीं दूसरी तरफ उद्धव ठाकरे भी गुवाहाटी में कुछ विधायकों को मैसेज कर रहे हैं। ऐसी खबरें हैं कि बागी विधायक उद्धव बस ये जवाब दे रहे हैं कि वे शिवसेना के साथ हैं। आप सभी को बता दें कि शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे के घर के बाहर बीते शनिवार शाम को सैकड़ों की संख्या में उनके समर्थक जुटे।

यहाँ शिंदे समर्थकों ने उनके समर्थन में जमकर नारेबाजी की। यहाँ कार्यकर्ताओं ने कहा कि पार्टी और मराठियों के लिए शिंदे के उठाए गए हर कदम पर हम उनके साथ हैं। आपको बता दें कि महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक बवाल के बीच शिवसेना के राज्यसभा सांसद ने एक ट्वीट करके बागी नेताओं पर निशाना साधा है। कुछ समय पहले ही संजय राउत ने ट्वीट किया है कि 'कब तक छिपोगे गुवाहाटी में।।। आना ही पड़ेगा चौपाटी में।।।' वहीं संजय राउत ने इससे पहले शनिवार को भी बागी नेताओं को लेकर बयान दिया था। जी हाँ और उन्होंने बागी विधायकों को पर कार्रवाई की चेतावनी दी थी।

NCP सांसद मोहम्मद फैज़ल ने श्रीलंका को बेच डाली करोड़ों की मछलियां, अब CBI ने कसा शिकंजा

एकनाथ शिंदे बने महाराष्ट्र के CM!

शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद संजय राउत ने दिया ये बड़ा बयान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -