रणजी में इतिहास रचने पर होगी मध्य प्रदेश की निगाह, मुंबई की टीम से होगा कड़ा मुकाबला

इंडिया क्रिकेट टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी में अब खिताबी जंग शुरू हो चुकी है। आज से मध्य प्रदेश और मुंबई के मध्य बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में फाइनल खेला जाने वाला है। आदित्य श्रीवास्तव की कप्तानी में मध्य प्रदेश टीम की नजरें अपना पहला रणजी खिताब जीतकर इतिहास रचने पर होने वाली है। हालांकि मध्य प्रदेश के लिए खिताब जीतना इतना आसान नहीं होने वाला है, क्योंकि उसकी टक्कर 41 बार की चैम्पियन मुंबई की धाकड़ टीम से होने वाला है। इस बार मुंबई टीम की कप्तानी टीम इंडिया के स्टार ओपनर पृथ्वी शॉ के हाथ में है। वह टीम को चैम्पियन बनाने के लिए पूरी ताकत लगाएंगे।

पिछले 5 मैचों में मुंबई का पलड़ा भारी: यदि मध्य प्रदेश और मुंबई के मध्य हुए बीते पांच रणजी मुकाबलों के बारें में बात की जाए तो, इसमें पलड़ा थोड़ा मुंबई की ओर झुकता हुआ दिखाई दे रहा है। बीते पांच मैचों में दो मुंबई ने जीते, बाकी तीन ड्रॉ रहे हैं। दोनों टीमों के मध्य बीते चार मैच निरंतर ड्रॉ हुए हैं। इनमें से एक में पहली पारी के आधार पर मुंबई को जीत मिली थी। मध्य प्रदेश की टीम के लिए अच्छी बात यह है कि उसने इस सीजन में अब तक अपने बीते 5 में से चार मैच भी जीत लिए है। जबकि मुंबई की टीम ने पिछले पांच मैचों में से तीन ही मुकाबले जीत पाए। 

मध्य प्रदेश की ताकत: इस बार IPL में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए हीरो साबित हुए रजत पाटीदार मध्य प्रदेश की टीम में उपकप्तानी करते हुए दिखाई देने वाले है। रजत ने IPL में इस बार एक शतक भी जमाया था। ऐसे में उनकी शानदार फॉर्म मध्य प्रदेश को अपना पहला खिताब दिलाने वाली है। उन्होंने अब तक इस सीजन में अपनी टीम के लिए 5 मैचों में सबसे अधिक 506 रन बनाए हैं। गेंदबाजों में स्पिनर कुमार कार्तिकेय 5 मैचों में 27 विकेट लेकर ओवरऑल सबसे ज्यादा विकेट की लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ चुके है।

विंबलडन 2022 की टॉप 2 रैंकिंग में शामिल हुए जोकोविच और नडाल

आसन की तस्वीर शेयर कर जरीन ने बताए योग के फायदे

तेंदुलकर की तरह पलट सकती है ऋषभ पंत की किस्मत, अगर हो जाए ये काम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -