Share:
श्रद्धा की तरह अनुपमा की हुई दर्दनाक हत्या, पति ने किए थे 72 टुकड़े
श्रद्धा की तरह अनुपमा की हुई दर्दनाक हत्या, पति ने किए थे 72 टुकड़े

देहरादून: दिल्ली में हुए श्रद्धा हत्याकांड जैसी घटना देहरादून की शांत वादियों में भी सामने आई थी। 2010 में सॉफ्टवेयर इंजीनियर राजेश गुलाटी ने बेरहमी से अपनी पत्नी अनुपमा गुलाटी का क़त्ल कर दिया था। हत्या करने के पश्चात् घर में ही इलेक्ट्रिक आरी से शव के 72 टुकड़े कर दिए थे। शरीर के टुकड़ों को बड़े डीप फ्रीजर में रखा था। राजेश आहिस्ता-आहिस्ता शव के टुकड़ों को जंगल में फेंकता गया। दिल दहला देने वाला यह मामला कैंट कोतवाली इलाके में 11 दिसंबर 2010 को सामने आया था। सॉफ्टवेयर इंजीनियर राजेश गुलाटी देहरादून में एक मकान में पत्नी अनुपमा एवं दो बच्चों के साथ रहता था।

17 अक्टूबर 2010 को अनुपमा अचानक लापता हो गई तथा भाई के देहरादून पहुंचने पर मामला खुला था। देहरादून अदालत ने राजेश गुलाटी को 1 सितम्बर 2017 को आजीवन कारावास की सजा सुनवाई तथा 15 लाख रुपए का अर्थदण्ड भी लगाया जिसमे से 70 हजार राजकीय कोष में जमा करने एवं शेष राशि उसके बच्चो के बालिग होने तक बैंक में जमा कराने के आदेश दिए थे। बच्चे जब भी राजेश से मां के बारे में पूछते तो वह बोलता कि उनकी मां नाना-नानी के घर गई हुई है। लगभग 2 महीने तक ऐसे ही चलता रहा। इस दरमियान मायके पक्ष के लोगों का अनुपमा से संपर्क नहीं हुआ तो 11 दिसंबर 2010 को अनुपमा का भाई राजेश के प्रकाशनगर मौजूद आवास पर पहुंचा, लेकिन उसे घर में नहीं घुसने दिया गया।

वही यह खबर उसने पुलिस को दी। पुलिस ने घर की तलाशी ली तो एक कमरे में रखे डीप फ्रीजर से अनुपमा गुलाटी के लाश के टुकड़े मिले। अदालत ने इस मामले में राजेश गुलाटी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। आरोप पत्र के मुताबिक, अगले दिन राजेश ने बाजार से 20 हजार रुपये में डीप फ्रीजर खरीदा एवं लाश उसमें छुपा दी। जब खून जम गया तो राजेश ने बाजार से पत्थर काटने वाला ग्राइंडर व आरी खरीदी तथा उनसे लाश के टुकड़े किए। लाश को ठिकाने लगाने के लिए उसने 3 बार में कुछ टुकड़े पॉलीथिन में करके मसूरी में पहाड़ी से नीचे फेंके। वह आहिस्ता-आहिस्ता यह कार्य कर रहा था जिससे किसी को शक न हो, लेकिन इसी बीच उसका भेद खुल गया। राजेश ने अनुपमा से 10 फरवरी 1999 को प्रेम विवाह किया था। दोनों के बीच 1992 से अफेयर चल रहा था। शादी के पश्चात् वर्ष 2000 में राजेश, अनुपमा को लेकर यूएस चला गया। वहां जून 2006 में उन्हें जुड़वा बच्चे सिद्धार्थ एवं सोनाक्षी हुए। साल 2008 में दोनों दिल्ली आ गए। तत्पश्चात, राजेश परिवार सहित देहरादून आ गया।

झारखंड में हुआ दिल्ली की 'श्रद्धा' जैसा कत्ल, मामला जानकर खड़े हो जाएंगे रोंगटे

Video: सीएम गहलोत के गृहनगर में शिक्षक जस्सू खान ने नाबालिग छात्रा के साथ की अश्लील हरकत

नाज़ायज़ संबंध के लिए पति की हत्या कर तालाब में फेंका, 2 साल बाद सामने आई पत्नी की करतूत

रिलेटेड टॉपिक्स
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -