सिख मंत्री की अंग्रेजी का कनाडा की संसद में उड़ा मजाक

टोरंटो : कनाडा की नवनिर्वाचित सरकार ने जब अपने मंत्रिमंडल में सिख मंत्रियों को शामिल किया तो दुनिया भर में इसकी चर्चा हुई। लेकिन अब उसी मंत्री की उनकी अंग्रेजी बोलने की शैली से फजीहत हो रही है। हरजीत सज्जन कनाडा के पहले सिख रक्षा मंत्री है। संसद में उनको नस्लीय टिप्पणी का सामना करना पड़ा।

कनाडा के पूर्व रक्षा मंत्री और कंजरवेटिव पार्टी के सांसद जेसन केनी ने संसद में चिल्लाकर कहा कि जब सज्जन बोलते है, तो सांसदों को अंग्रेजी से अंग्रेजी अनुवाद करने की जरुरत पड़ जाती है। केनी ने यह टिप्पणी तब की जब सज्जन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ सैन्य अभियान के बारे में जवाब दे रहे थे। इसके जवाब में सज्जन का समर्थन करते हुए अन्य सांसदों ने केनी को नस्ली करार दिया।

प्रश्नकाल के बाद लिबरल पार्टी के लैमोरिक्स उठे और केनी से सज्जन पर की गई अनुचित टिप्पणी के लिए माफी मांगने को कहा। भारतीय मूल की लिबरल सांसद रूबी सहोता ने पूर्व रक्षा मंत्री केनी द्वारा माफी मांगने से इनकार करने को अस्वीकार करार दिया। केनी ने हाउस ऑफ कॉमन्स में माफी मांगने की मांग खारिज कर दी। बाद में उन्होंने ट्विटर पर लिखकर समझाया कि उन्होंने उक्त टिप्पणी क्यों की।

भारतीय मूल के एक और सांसद ने केनी से माफी मांगने को कहा। इस पर केनी ने कहा कि दु्र्भाग्यवश मुझे आईएस के खिलाफ संघर्ष समाप्त करने के बारे में उनका भाषण अप्रभावशाली और बेतुका लगा। यदि उनकी टिप्पणी को किसी भी तरह से गलत लिया गया तो उन्हें इस बात का खेद है। सज्जन कनाडा के सैनिक रह चुके है। जब वो 5 साल के थे, तभी अफने परिवार के साथ कनाडा चले गए थे।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -