क्या मजा जीने में

Oct 09 2015 05:32 AM
क्या मजा जीने में

ना संघर्ष ना तकलीफ तो

क्या मजा जीने में

बड़े तूफान थम जाते है

जब आग लगी हो सीने में

अगर लफ्जो में सादगी हो

मोहब्बत बेपनाह हो

इज्जत बेशुमार तो

बेमिसाल दोस्त मिल ही जाते है