विशेष होता है लालबाग के राजा का आकर्षण

Sep 24 2015 12:45 AM
विशेष होता है लालबाग के राजा का आकर्षण

देशभर में श्रद्धालु बड़े ही जतन से भगवान श्री गणेश की आराधना में लगे हुए हैं। इस दौरान देशभर में गणेश पांडालों में धूम मची हुई है। ऐसे में मुंबई में भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु गणेश पांडालों में श्री गणेश के दर्शनों के लिए उमड़ रहे हैं। इस दौरान मुंबई के लालबाग के राजा के दर्शनों के लिए भी श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ रहा है। 

लालबाग के राजा की छटा बेहद निराली है। बप्पा की स्थापना वर्ष 1934 से की जा रही है। यह मुंबई का प्रमुख आकर्षण है। इनके दर्शनों के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ता है। हालात ये है कि बप्पा का करोड़ों रूपए का बीमा करवाया जाता है और यहां चढ़ावे के तोर पर भी 20 से 25 करोड़ रूपए से भी अधिक की आय होती है। गणपति उत्सव के दौरान भगवान को हीरे, स्वर्ण, रजत जडि़त आभूषण धारण करवाए जाते हैं। यहां दर्शन करने वाली की सभी मनोकामना पूर्ण होती है इसलिए इसे नवसाचा गणपति भी कहते हैं।

यह मंदिर बेहद आकर्षक है। इस बार भगवान के दरबार में यह उत्सव बेहद खास तरह से मनाया जा रहा है। मुंबई में गणपति बप्पा की मूर्तियां अलग तरह से सजाई जाती हैं और लालबाग का पांडाल इसमें विशेष आकर्षण बिखेरता है। लाल बाग के राजा के दरबार को अलग - अलग तरह से सजाया जाता है। पापा के चरणों में उनका शस्त्र गदा सुशोभित रहता है। एक हाथ में चक्र एक हाथ में अंकुश उनकी दीव्य शक्ति को प्रदर्शित करता है।