झांसी के सामूहिक विवाह में हुआ 'खेला', दूल्हा नहीं पहुंचा तो दुल्हन ने जीजा संग कर ली शादी
झांसी के सामूहिक विवाह में हुआ 'खेला', दूल्हा नहीं पहुंचा तो दुल्हन ने जीजा संग कर ली शादी
Share:

झांसी: उत्तर प्रदेश के झांसी में सीएम सामूहिक विवाह योजना में चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जहां दूल्हे की अनुपस्थिति में दुल्हन ने जीजा संग सात फेरे ले लिए। किन्तु जब इसकी पोल खुली तो आनन-फानन में दुल्हन ने अपनी मांग में भरा सिंदूर पोंछ डाला। वहीं, इसको लेकर समाज कल्याण अफसर ललिता यादव ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है, तहकीकात कराई जाएगी। 

दरअसल, पूरी घटना झांसी के पॉलिटेक्निक कॉलेज मैदान की है। यहां पिछले मंगलवार को सामूहिक विवाह योजना के तहत कई जोड़ों की शादी कराई गई। किन्तु इसके चलते जब एक दूल्हा मौके पर नहीं पहुंचा तो दुल्हन के साथ आए उसके शादीशुदा जीजा से ही उसकी शादी करवा दी गई। शादी के तुरंत पश्चात् दुल्हन ने मांग में भरा सिंदूर पोंछ डाला। बाद में जब दूल्हा-दुल्हन से अलग-अलग बात की गई तो उन्होंने इस बात को स्वीकार किया। बता दें कि 27 फरवरी को सीएम सामूहिक विवाह सम्मेलन था। इस सम्मेलन में दूर-दूर से कई सारे वर-वधु शादी करने पहुंचे थे। तभी एक जोड़े पर नजर पड़ी तो मामला कुछ संदिग्ध दिखाई दिया। इसके बारे में जब पता किया गया तो हकीकत सामने आ गई। 

झांसी के बामोर निवासी खुशी की शादी छतरपुर मध्यप्रदेश के बृषभान के साथ तय हुई थी तथा सामूहिक विवाह कार्यक्रम में उसका रजिस्ट्रेशन नंबर 36 था। खुशी ने फेरे लेते ही मांग से सिंदूर व बिंदी पोंछ डाली। वहीं, दूल्हे बृषभान से जब बात की गई तो उसने स्वीकार किया कि असल में उसका नाम दिनेश है एवं वह छतरपुर नहीं बल्कि बामोर का रहने वाला है। दिनेश ने बताया कि बृषभान से शादी होनी थी किन्तु वह नहीं आया तो विभाग के ही कुछ लोगों के बोलने पर वह बृषभान की जगह दूल्हा बन गया। दिनेश ने यह भी कहा कि वह पहले से शादीशुदा है एवं खुशी का रिश्ते में जीजा लगता है। इस घटना पर सूत्रों ने कहा कि विवाह कार्यक्रम में सरकार की तरफ से प्राप्त होने वाली आर्थिक मदद हड़पने के लिए ये खेल किया गया था। इस खेल में विभागीय अफसर एवं कर्मचारी भी सम्मिलित बताये जा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला बलिया से सामने आया था। जिसमें कई अफसरों पर एक्शन लिया गया था। 

वहीं, इस मामले में दुल्हन खुशी कभी अपना नाम छवि बताती है तो कभी कुछ और। उसका कहना था कि होने वाला पति (दूल्हा) मौके पर नहीं आ पाया था। क्योंकि, बारिश हो रही थी तथा वो बहुत दूर था। इस वजह से जीजा जी से शादी कर ली। बकौल खुशी- मालूम है कि यह गलत है किन्तु हमारी भी परेशानी थी। फॉर्म भर चुका था, सबकुछ ऑनलाइन दर्ज हो चुका था। मैं मंडप भी पहुंच गई थी। इसलिए शादी करनी पड़ी। दूसरी तरफ, इस फर्जीवाड़े को लेकर विवाह कार्यक्रम में उपस्थित समाज कल्याण अफसर ललिता यादव ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा कि यह संभव नहीं है। अगर ऐसा हुआ है एवं शिकायत प्राप्त होती है तो तहकीकात कर कार्यवाही की जाएगी।  

रायता डिश के नाम से मशहूर है ये जगह, बनाएं घूमने का प्लान

अचानक ट्रेन में अश्लील डांस करने लगी लड़की, वायरल वीडियो पर रेलवे ने किया रिएक्ट

बसंत के मौसम में घूमने जाएं भारत की ये 6 जगहें, होगी स्वर्ग की अनुभूति

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -