Share:
भूलकर भी फ्रिज में रखें उबले आलू, जानिए क्यों?
भूलकर भी फ्रिज में रखें उबले आलू, जानिए क्यों?

आलू, एक बहुमुखी और प्रिय रसोई का भोजन, नाश्ते से लेकर मुख्य पाठ्यक्रमों तक, विभिन्न व्यंजनों में अपना स्थान पाता है। हालाँकि, स्वास्थ्य विशेषज्ञों की हालिया जानकारी से पता चलता है कि आलू से जुड़ी सभी प्रथाएँ फायदेमंद नहीं हैं। विशेष रूप से, बाद में उपयोग के लिए आलू को उबालने और फिर फ्रिज में रखने की आदत स्वास्थ्य जोखिम पैदा कर सकती है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ उबले हुए आलू को फ्रीजर में रखने के खिलाफ चेतावनी देते हैं क्योंकि आलू में मौजूद स्टार्च चीनी में बदल जाता है। हैरानी की बात यह है कि इससे स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। बहुत से लोग आलू को पहले से उबालते हैं, फ्रिज में रखते हैं और अगले दिन उपयोग करते हैं। दुर्भाग्य से, यह प्रथा संभावित रूप से हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यह सावधानी उबले आलू से लेकर कच्चे आलू तक भी लागू होती है। कच्चे आलू को फ्रिज में रखने से भी आलू खराब हो सकते हैं। जब फ्रिज में संग्रहीत किया जाता है, तो आलू में स्टार्च के टूटने के दौरान उत्पन्न होने वाली चीनी शतावरी के साथ मिलकर एक्रिलामाइड बनाती है, जो कागज और प्लास्टिक के उत्पादन में उपयोग किया जाने वाला रसायन है। इसलिए, आलू को फ्रिज में स्टोर करने से परहेज करने की सलाह दी जाती है।

तो, किसी को आलू का भंडारण कैसे करना चाहिए? आलू को लंबे समय तक ताजा रखने के लिए विशेषज्ञ उन्हें धूप में रखने की सलाह देते हैं। इन्हें एक ही परत में रखने से नीचे के आलू खराब होने से बच जाते हैं। आलू के भंडारण के लिए आदर्श तापमान कम से कम 50°F (10°C) है।

निष्कर्षतः, रेफ्रिजरेटर में आलू भंडारण करने से विभिन्न हानिकारक प्रभाव पड़ सकते हैं। चाहे उबले हुए हों या कच्चे, आलू को रेफ्रिजरेट करने से जुड़े जोखिमों के कारण इस सामान्य चीज पर पुनर्विचार करना चाहिए। 

'हमास ने तोड़ा युद्धविराम..', यरूशलम में हुए आतंकी हमले पर भड़के अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन

दिल्ली में धुंध का कहर, वायु गुणवत्ता फिर 'खतरनाक स्तर' पर पहुंची

सुबह उठने के बाद हो रहा है बदन दर्द तो ना करें इग्नोर, जानिए इसका कारण

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -