करतारपुर कॉरिडोर : कॉरिडोर के खुलने से बीएसएफ है चिंतित, जानें कारण
करतारपुर कॉरिडोर : कॉरिडोर के खुलने से बीएसएफ है चिंतित, जानें कारण
Share:

नई दिल्लीः भारत और पाकिस्तान के संबंध इन दिनों कश्मीर मुद्दे के कारण काफी तनाव में है। पाकिस्तान ने भारत के साथ कई साथ तरह के संबंधों को स्थगित कर दिया है। मगर करतारपुर कॉरिडोर को लेकर वह अब भी अपने सकारात्मक रूख पर बना हुआ है। अगले माह पीएम मोदी इस कॉरिडोर के जरिए सिख संगत के पहले जत्थे को पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिए रवाना कर सकते हैं। करतारपुर आने वाली संगत पर पाकिस्तान सरकार की तरफ से लगाई गई 20 डॉलर प्रति व्यक्ति की फीस को लेकर भारत सरकार बातचीत कर रही है।

इन सबके बीच कॉरिडोर की सुरक्षा को लेकर बीएसएफ बड़ी चिंतित है। कॉरिडोर और पैसेंजर टर्मिनल की सुरक्षा के लिए जो कुछ चाहिए, उन्हें अभी तक वह नहीं मिला है। जिस तरह के खुफिया अलर्ट आ रहे हैं, वे चौंकाने वाले हैं। पाकिस्तान कॉरिडोर के जरिए भारत की सुरक्षा में सेंध लगाने का हर संभव प्रयास करेगा। बीएसएफ ने कॉरिडोर की सुरक्षा के लिए एक बटालियन मांगी थी, लेकिन अभी तीन कंपनियां ही पहुंची हैं। वाहनों की जांच, चेहरे पहचानने वाले यंत्र, जैमर, सीसीटीवी, रेडिएशन का पता लगाने वाले उपकरण और ड्रग्स एवं विस्फोटक सामग्री की टोह के लिए जो कुछ चाहिए, वह सब नहीं मिला है।

साथ ही पाकिस्तान ने ये कह कर सुरक्षा बलों की चिंता और ज्यादा बढ़ा दी है कि वह सिख संगत के साथ किसी भी सरकारी एजेंसी जैसे आईबी या दूसरे किसी विभाग के स्टाफ को करतारपुर स्थित गुरुद्वारे और पैसेंजर टर्मिनल तक जाने की इजाजत नहीं देगा। बीएसएफ के सूत्र के मुताबिक,पाकिस्तान स्थित करतारपुर गुरुद्वारे में आईएसआई और दूसरी लोकल एजेंसियों के लोगों का जमावड़ा रहेगा।

वहां जाने वाली सिख संगत को गुमराह करने का प्रयास होगा। इसके लिए पाकिस्तानी आईएसआई नकली धर्म गुरुओं का सहारा ले सकती है। वे सिख धर्म के अनुयायियों का वेश धारण कर सिख संगत के लोगों को भारत के दूसरे समुदायों के खिलाफ भड़काएंगे। उन्हें 1984 के दंगों की याद दिला सकते हैं। इसके लिए वे झूठी प्रचार सामग्री और सोशल मीडिया का सहारा लेंगे, ऐसी पूरी संभावना है। भारतीय खुफिया एजेंसियों का अनुमान है कि गुरुद्वारे में पहुंचने वाला कोई व्यक्ति अगर आईएसआई के बहकावे में आ गया, तो वे उसे अपना स्लीपर सेल बनाने में देर नहीं लगाएंगे।

कर्नाटक के गृह मंत्री का बयान, जेयूएम बांग्लादेश का केंद्र बन रहा बैंगलुरू और मैसूर

मध्य प्रदेश में दर्दनाक हादसा, कुँए में गिरी 24 बच्चों से भरी स्कूल वैन

मिठाई के डिब्बे में चाकू और पिस्तौल लेकर पहुंचे बदमाश, कर दी हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष की हत्या

रिलेटेड टॉपिक्स