Share:
कबीर जानते थे की बेटा करने जा रहा है सुसाइड, फिर भी नहीं रोक पाए थे एक्टर
कबीर जानते थे की बेटा करने जा रहा है सुसाइड, फिर भी नहीं रोक पाए थे एक्टर

कबीर बेदी (Kabir Bedi) आज अपना जन्मदिन मना रहे है। उनका जन्म 16 जनवरी 1946 लाहौर, पाकिस्तान में हुआ था। कबीर बेदी डैशिंग पर्सनाल्टी और दमदार आवाज़ के चलते बहुत आसानी से बॉलीवुड इंडस्ट्री का भाग बन चुके है। वहीं उनकी पर्सनल लाइफ हमेशा से विवादों में रही है। कबीर बेदी ने अपनी बायोग्राफी स्टोरीज आई मस्ट टेल: द इमोशनल लाइफ ऑफ द एक्टर में कई बड़े खुलासे भी किए जा चुके है। उन्होंने इसमें बताया था कि वो इस बात को जानते थे कि उनका बेटा सिध्दार्थ सुसाइड करने जा रहा है, लेकिन वे उसे बचा नहीं पाए थे। 

कबीर बेदी को सबसे बड़ा दुख ये है कि वे अपने बेटे को सुसाइड करने रोक नहीं सके, जबकि वो ये बात जानते थे कि वह सुसाइड करने वाले है। दरअसल सिद्धार्थ बेदी महज़ 25 वर्ष कोई आयु में सीजोफ्रेनिया से जूझ रहे थे, वो रह रहकर सुसाइड के बारे में सोचते थे। इंडिया में लॉकडाउन के दौरान कबीर बेदी ने अपनी बायोग्राफी में स्टोरीज आई मस्ट टेल: द इमोशनल लाइफ ऑफ द अभिनेता में उन्होंने अपनी पर्सनल लाइफ की डिटेल शेयर की है। इस किताब के विमोचन में सलमान खान भी आए हुए थे।

कबीर बेदी इस बुक में अपने बेटे सिद्धार्थ को लेकर कहा कि वह बहुत टेलेंटिड लड़का था । उसमें कई विलक्षण योग्यताएं रही अचानक उसके सोच थम गई थी । उसे एनकरेज करने की हमने बहुत कोशिश की, लेकिन उसे हम समझ ही नहीं पा रहे थे। कबीर बेदी ने इस किताब में जिक्र किया है, एक बार सिध्दार्थ ने कनाडा के मॉट्रियल में हिंसक व्यवहार भी कर चुके है। उसे बमुश्किल पुलिसवालों ने कंट्रोल किया था । जब डॉक्टर्स ने उसका चेकअप किया तो पता चला कि सिद्धार्थ बेदी सीजोफ्रेनिया (Schizophrenia) के शिकार हो गए थे।

कबीर बेदी के अनुसार सिध्दार्थ अपनी इस बीमारी के बारे में जानता था। एक बार तो उसने अपने मुंह से बोला था कि वह सुसाइड करना चाहता है। जिसके उपरांत कबीर बेदी ने उसे डिफ्रेशन से निकालने की बहुत प्रयास किया, लेकिन वो इसमें सफल नहीं हो पाए। कबीर बेदी ने ये भी बताया था कि एक बार जब उन्होंने उसका सोशल मीडिया अकाउंट देखा तो उसने एक मेल में अपने फ्रेंडस को फेयरवेल देने के लिए इन्वाइट भी कर लिया था। इसके कुछ दिन बाद उसने खुदकुशी कर ली थी। खबरों का कहना है कि बेटे की मौत के बाद प्रोतिमा बेदी आध्यात्म की ओर मुड़ गईं, वहीं एक धार्मिक यात्रा के बीच एक्सीडेंट में उनकी मौत हो गई। वहीं कबीर बेदी आज भी बेटे को याद करके गमगीन हो गए थे।

मिडिल क्लास, इनकम टैक्स, फ्रीबीज..', Budget पर सीतारमण ने दिए कई सवालों के जवाब

Ind Vs SL: इतिहास की सबसे बड़ी जीत, 3-0 से क्लीन स्वीप, 317 रनों से हारा श्रीलंका

दिल्ली-यूपी में आज से खुले स्कूल, इन राज्यों में बढ़ी सर्दियों की छुट्टी

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -