आज अल्टीमेटम समाप्त, उग्र हो सकते हैं जाट

रोहतक : हरियाणा में जाट आरक्षण को दबाए जाने के बाद जाट समुदाय के लोगों ने उनके लोगों पर आरोपित प्रकरण समाप्त करने की मांग की है। जाट समुदाय द्वारा दिया गया अल्टीमेटम आज समाप्त हो रहा है। ऐसे में हंगामे की आशंका को देखते हुए सरकार द्वारा सुरक्षा कड़ी कर दी गई। इस मामले में यह भी कहा गया कि रोहतक में स्कूल और काॅलेज दोनों ही बंद हैं। दूसरे जिलों में स्कूलों और महाविद्यालयों को बंद रखने का निर्णय भी डिप्टी कमीश्नर पर छोड़ दिया गया है। मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर द्वारा इस मामले में प्रधानमंत्रीनरेंद्र मोदी से कुछ समय जरूर मांगा है।

उल्लेखनीय है कि जाट आरक्षण से जुड़े नेताओं ने मांग की है कि जाट समुदाय के नेताओं और अन्य लोगों पर पुलिस ने आंदोलन के दौरान जो प्रकरण दर्ज किए हैं उन्हें समाप्त कर दिया जाए। जाट समुदाय भारतीय जनता पार्टी के कुरूक्षेत्र से सांसद राजकुमार सैनी को एंटी जाट बयान देने के विरूद्ध कार्रवाई करने की मांग भी कर रहे हैं। जाट आरक्षण आंदोलन को लेकर यह बात सामने आई है कि आंदोलन करने के बाद भी विधेयक को लेकर किसी तरह की सहमति नहीं बनी है।

विधेयक को विधानसभाओं में पेश किया जाना था। मगर वह विधानसभा में प्रस्तुत नहीं हो सका। जाट आरक्षण विधेयक का ड्राफ्ट शाम को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व में मंत्रियों की बैठक में रखा गया। हालांकि बैठक में जाटों को आरक्षण दिए जाने की बातें भी सामने आईं। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -