योग दिवस में आने वाले सभी लोगों के लिए ऊँ का जप अनिवार्य

नई दिल्ली: 21 जून को एक बार फिर से भारत अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने जा रहा है. ऐसे में आयुष मंत्रालय इसकी तैयारियों में जुटा हुआ है. आयुष मंत्रालय ने अपने फरमान में कहा है कि योग दिवस में योग क्रियाओं के दौरान ऊँ मंत्र का जाप अनिवार्य है।

सूत्रों का कहना है कि इसके लिए मंत्रालय ने तैयारियां भी पूरी कर ली है. ऊँ का जप करना हर भाग लेने वाले का अनिवार्य होगा। 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था।

आयुष मंत्रालय द्वारा जारी किए गए प्रेस रिलीज में बताया गया है कि इस दौरान पूरे 45 मिनट का कार्यक्रम होगा. जिसमें कि 6 मिनट तक कंधे और गर्दन से जुड़े आसन होंगे. इसके अलावा 23 योगासन किए जाएंगे और दो मिनट का प्रार्थना किया जाएगा।

फिल्म अभिनेता अनुपम खेर ने इसका खुलकर समर्थन करते हुए कहा है कि हर बार राजनीति करना सही नहीं है. उन्होंने कहा कि जो ऊं का उच्चारण नहीं करना चाहते, वो कुछ और बोल लें. कुछ लोग हर चीज का राजनीतिकरण करना चाहते हैं।

इस पर मुस्लिम धर्म गुरु खफा हो गए है. कोलकाता के मुस्लिम धर्म गुरु शफीक काजी का कहना है कि यह निर्णय धर्मनिरपेक्षता के किलाफ है। उन्होने सत्ता का दुरुपयोग करार देते हुए कहा कि ये देश की सभी लोगों की आस्था एक छतरी के नीचे लाने की प्लानिंग है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -