10 साल की सबसे नन्हीं स्पीकर बनी इशिता, किताब भी लिख चुकी है

10 साल की सबसे नन्हीं स्पीकर बनी इशिता, किताब भी लिख चुकी है

पुणे: 10 वर्ष की इशिता कटियाल दुनिया की सबसे कम उम्र की स्पीकर बन गई है। उन्होने दुनिया के सबसे बड़े टेड यूथ कांफ्रेंस में स्पीच दिया है। यह सोमवार को कनाडा के वैंकूवर में आयोजित की गई थी। इशिता ने जैसे ही अपनी स्पीच पूरी की, पूरा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। इस कांफ्रेंस में टेक्नोलॉजी, इंटरटेनमेंट औऱ डिजाइन जगत की हस्तियों ने भाग लिया था।

इस कांफ्रेंस में आम जनता के मुद्दों पर बोलने की स्वतंत्रता दी जाती है। ओपनिंग स्पीच में इशिता ने कहा कि बच्चों से ये पूछे कि वो बड़े होकर क्या बनना चाहते है, उनसे ये पूछा जाना चाहिए कि वो अभी क्या बनना चाहते है। आज भी हम बहुत कुछ कर सकते है, लेकिन कई ऐसी बड़ी ताकतें है, जो बच्चों के सपनों के खिलाफ काम कर रही है। बड़े अक्सर बच्चों को कम करके आंकते है।

इससे वो बच्चों के भीतर एक डर पैदा कर देते है। स्कूलों की फीस बढ़ाने से पहले स्कूल को 10 बार सोचना चाहिए, लड़ाई में जाने से पहले देश को 100 बार सोचना चाहिए, फूड, वॉटर बर्बाद करने से पहले 1000 बार सोचना चाहिए और बच्चों को आगे बढ़ने से रोकने से पहले 10 हजार बार सोचना चाहिए।

अंत में इशिता ने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि आप बड़े हम बच्चों को, दुनिया को हमारे नजरिेए से समझने में मदद करेंगे। इस कार्यक्रम में ए आर रहमान ने भी परफॉर्म किया। इशिता पुणे की रहने वाली है। इससे पहले इशिता ने बाल दिवस के मौके पर आप अब क्या बनना चाहते है, इस विषय पर स्पीच दी थी।

इशिता ने अपनी मां से टेड की टीम में शामिल होने की इच्छा जताई थी। इसके बाद इशिता ने स्काइप के जरिए दो बार इंटरव्यू दिए और वो सेलेक्ट हो गई। इशिता ने महज 10 साल की उम्र में सिमरन डायरी नाम की किताब भी लिखी है। इस किताब में भी यही बताया गया है कि एक 10 साल की बच्ची दुनिया को कैसे देखती है।