MYH हॉस्पिटल के डॉक्टर्स ने किया कमाल, चार हाथ और चार पैरों वाले बच्चे कि की सफल सर्जरी

Oct 24 2020 08:59 AM
MYH हॉस्पिटल के डॉक्टर्स ने किया कमाल,  चार हाथ और चार पैरों वाले बच्चे कि की सफल सर्जरी

इंदौर: एमवाय अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञों की एक टीम ने शुक्रवार को चार पैरों, चार हाथों और एक चेहरे के साथ जन्म लेने वाले एक शिशु का सफल ऑपरेशन किया। शिशु का जन्म झाबुआ जिले के मेघनगर में 9 अक्टूबर को हुआ था। जानकारी के अनुसार, झाबुआ की मोनिका नामक महिला ने घर में शिशु को जन्म दिया था। शिशु हेटरोफैगस पैरासिटिक सेजेड ट्विन्स से पीड़ित था। शिशु के माता-पिता उसे झाबुआ अस्पताल ले गए जहां उसे एमवायएच अस्पताल इंदौर रेफर कर दिया गया।

एमवाय अस्पताल के डॉ. ब्रजेश लाहोटी ने कहा कि जब शिशु केवल चार दिन का था, तो उसे 12 अक्टूबर को झाबुआ अस्पताल से एमवायएच रेफर किया गया था। उन्होंने कहा कि शिशुओं के आंतरिक शरीर के अंगों के बारे में डॉक्टरों की टीम भी अनिश्चित थी। वे निश्चित नहीं थे कि कितने अंग शामिल हुए और कितने सामान्य रूप से काम कर रहे थे। 16 अक्टूबर को, शिशु की सफल सर्जरी की गई और उसे आईसीयू में रखा गया।

जंहा इस बात का पता चला है कि शुक्रवार को अंतिम सर्जरी की गई। डॉक्टरों ने कहा कि बच्चा हेटरोफैगस बीमारी से पीड़ित था। इस बीमारी में, दो शिशु जन्म लेते हैं जिसमें एक बच्चा पूरी तरह से विकसित होता है जबकि दूसरा नहीं होता है। अविकसित बच्चे के सिर के अलावा शरीर के लगभग सभी हिस्से थे। दोनों की नसें और रक्त वाहिकाएं भी जुड़ी हुई थीं। 10 से 20 लाख बच्चों में से एक में इस तरह का मामला बहुत ही कम देखने को मिलता। इस तरह के MYH में पिछले 25 वर्षों में यह चौथा ऑपरेशन था।

'J&K के झंडे के अलावा कोई दूसरा ध्वज नहीं उठाउंगी'... महबूबा के बयान पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

बिहार चुनाव: नितीश पर चिराग का वार, बोले- शराबबंदी के नाम पर बिहारियों को तस्कर बना रहे

केरल ने शुरू की 26 नई पर्यटन परियोजनाएं