भारत-नेपाल सीमा पर निगरानी बढ़ाएगी सरकार, बढ़ाई जाएगी सीसीटीवी कैमरों की संख्या
भारत-नेपाल सीमा पर निगरानी बढ़ाएगी सरकार, बढ़ाई जाएगी सीसीटीवी कैमरों की संख्या
Share:

सिद्धार्थनगरः भारत-नेपाल सीमा एक खुली सीमा है। इस कारण दोनों देश के अपराधी आसानी से एक देश से दूसरे देश में प्रवेश कर जाते हैं। सुरक्षा एजेंसियों ने इस सीमा से कई कुख्यात आतंकियों को दबोचा है। सरकार इस सीमा को और चाक-चौबंद बनाने जा रही है। इसके लिए सीमा की चार चेकपोस्टों पर 20 सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। वहीं, जो कैमरे पहले से लगाए गए हैं और बंद या फिर खराब हो गए हैं उन्हें ठीक कराया जाएगा। यूपी के गोरखपुर जिले की 68 किलोमीटर भारत-नेपाल की सीमा पूरी तरह से खुली हुई है।

यहां से बिना रोक-टोक कोई भी आ जा सकता है। इसी के चलते तस्कर से लेकर आतंकी भी इस रास्ते का उपयोग कर रहे हैं। पूर्व में बढ़नी बॉर्डर से बब्बर खालसा ग्रुप से जुड़े आतंकी पकड़े गए हैं। इसके बाद से ही भारत-नेपाल सीमा की संवेदनशीलता बढ़ गई है। देश के किसी भी भाग में आतंकी हमले के बाद सीमा पर अलर्ट जारी करते हुए विशेष निगरानी का निर्देश दिया गया है।

एसपी डॉ. धर्मबीर सिंह ने कहा कि सीमा की संवेदनशीलता को देखते हुए शासन ने आवागमन वाले उन रास्तों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश दिया है, जहां पूर्व में संदिग्ध लोग पकड़े गए हैं। अथवा उन रास्तों से तस्करी होती है या होने की संभावना बनी रहती है। शासन का मानना है कि अगर सीसीटीवी कैमरा लग जाएगा तो इस प्रकार की गतिविधियां कैमरे में कैद होंगी और उसके माध्यम से पहचान करके संबंधित व्यक्ति पर कार्रवाई की जाएगी। कई बार ऐसा पाया गया है कि राज्य के अपराधी वारदात को अंजाम देने के बाद नेपाल निकल जाते हैं।

कानपुर स्टेशन पर बड़ा हादसा, बाउंड्री तोड़ पटरी से उतरे चार डिब्बे

मध्य प्रदेश: पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान गिरफ्तार, राज्य की सियासत में मचा हड़कंप

असम बॉर्डर पर तैनात मप्र के जवान ने की आत्महत्या, परिवार में छाया मातम

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -