Share:
21 दिसंबर को होंगे भारतीय कुश्ती महासंघ के चुनाव, बृजभूषण सिंह पर लगे आरोपों के कारण हो गए थे स्थगित
21 दिसंबर को होंगे भारतीय कुश्ती महासंघ के चुनाव, बृजभूषण सिंह पर लगे आरोपों के कारण हो गए थे स्थगित

नई दिल्ली: भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के बहुत विलंबित चुनाव 21 दिसंबर को होंगे और परिणाम उसी दिन घोषित किए जाएंगे। आज शनिवार को चुनाव के रिटर्निंग अधिकारी ने इस बारे में जानकारी दी है। रिटर्निंग अधिकारी न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एम एम कुमार की देखरेख में चुनाव कार्यालय ने घोषणा की है कि मतदान की गिनती और परिणाम की घोषणा एक ही दिन होगी। हालाँकि, चुनाव परिणाम पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय में लंबित रिट याचिका के निर्णय पर निर्भर हैं। 

विशेष आम सभा की बैठक के दौरान होने वाले चुनाव 7 अगस्त को बनी चुनावी सूची के अनुसार होंगे, जिससे यह आशंका खत्म हो जाएगी कि पूरी प्रक्रिया फिर से शुरू हो सकती है। रिटर्निंग अधिकारी की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि, "चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की अंतिम सूची की तैयारी और प्रदर्शन तक के सभी चरण (7 अगस्त को) पूरे हो चुके थे और मतदान, वोटों की गिनती और परिणाम की घोषणा जैसी विभिन्न गतिविधियां बाकी थीं।"  

बयान में आगे कहा गया है कि, "WFI के चुनावों पर मतदान से ठीक एक दिन पहले 11.08.2023 को पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय द्वारा रोक लगा दी गई थी और इसलिए, 12.08.2023 को मतदान नहीं हो सका था। अब सुप्रीम कोर्ट ने स्थगन आदेश हटा दिया है और इसलिए शेष चरण जैसे मतदान आदि अब निम्नलिखित संशोधित कार्यक्रम के अनुसार 21.12.2023 को फिर से शुरू होंगे।'' बयान में कहा गया है कि, "हालांकि, उपरोक्त चुनावों का परिणाम पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के समक्ष लंबित रिट याचिका के नतीजे के अधीन होगा।" कई बार स्थगन के बाद, सुप्रीम कोर्ट द्वारा हाल ही में पंजाब और हरियाणा HC द्वारा लगाए गए रोक को खारिज करने के बाद WFI चुनाव संभव हो गए हैं।

वुशू एसोसिएशन ऑफ इंडिया के प्रमुख भूपेंदर सिंह बाजवा के नेतृत्व में IOA द्वारा गठित एक तदर्थ पैनल, वर्तमान में WFI की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों का प्रबंधन कर रहा है, क्योंकि खेल मंत्रालय ने यौन उत्पीड़न के आरोपों पर बृज भूषण शरण सिंह की अध्यक्षता वाले महासंघ को निलंबित कर दिया है। शीर्ष भारतीय पहलवानों द्वारा उनके खिलाफ उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था। ओलंपिक पदक विजेता बजरंग पुनिया और साक्षी मलिक सहित कई पहलवान बृज भूषण द्वारा महिला पहलवानों के कथित यौन उत्पीड़न के विरोध में दो महीने से अधिक समय तक जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे रहे थे।

चुनाव प्रक्रिया, जो जुलाई में शुरू हुई थी, अदालती मामलों के कारण विलंबित हो गई है। इसके बाद अंतर्राष्ट्रीय महासंघ, यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग द्वारा WFI को उनके द्वारा निर्धारित समय में नए चुनाव कराने में विफल रहने के कारण निलंबित कर दिया गया है। राष्ट्रीय संस्था के निलंबन के कारण भारतीय पहलवान UWW ध्वज के तहत अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेना जारी रखे हुए हैं। तदर्थ पैनल के प्रमुख बाजवा ने कहा कि मतदान यहां ओलंपिक भवन में होगा और "एजेंडा/आइटम 21 जुलाई 2023 को पहले जारी किए गए नोटिस के अनुसार ही होंगे।"

गौरी लंकेश हत्याकांड में 5 साल से कैद आरोपी को मिली जमानत, जानिए क्या बोली कर्नाटक हाई कोर्ट ?

'B.Ed डिग्री धारक प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ाने के लिए अयोग्य..', पटना हाई कोर्ट का बड़ा फैसला

श्रृद्धा के 35 टुकड़े करने वाला आफताब जेल में करता है बिसलेरी पानी और नए कपड़े की डिमांड, बोला- 'हाँ, हो गई मुझसे गलती, अब क्या मर जाऊँ?'

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -