Share:
लॉक डाउन के बीच चमका विदेशी मुद्रा भंडार, इकॉनमी पर पड़ेगा सकारात्मक असर
लॉक डाउन के बीच चमका विदेशी मुद्रा भंडार, इकॉनमी पर पड़ेगा सकारात्मक असर

नई दिल्लीः कोरोना वायरस का प्रकोप सारी दुनिया में है. हर क्षेत्र में इसकी मार पड़ रही है. सबसे ज्यादा असर आर्थिक क्षेत्र पर पड़ रहा है. लॉकडाउन लागू होने से इसके सुधार के लिए भी कोई कदम नहीं उठाए जा पा रहे हैं. किन्तु जहां कोरोना को लेकर निगेटिव खबरों की भरमार है, वहीं इस दौरान एक सुकून देने वाली खबर भी आई है. 

लॉकडाउन के बीच देश की अर्थव्यवस्था के लिए पॉजिटिव खबर है. देश के विदेशी मुद्रा भंडार (Foreign exchange reserves) में बड़ी बढ़त देखने को मिली है. देश का विदेशी मुद्रा भंडार 17 अप्रैल को ख़त्म हुए सप्ताह में 3.09 अरब डॉलर बढ़कर 479.57 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. पीटीआई से मिली जानकारी के अनुसार, इससे पिछले सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 1.81 अरब डॉलर बढ़कर 476.47 अरब डॉलर पहुँच गया था. इससे पहले 6 मार्च को ख़त्म हुए सप्ताह में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 5.69 अरब डॉलर बढ़कर 487.23 अरब डॉलर पर पहुंच गया था जो अब तक का रिकार्ड उच्च स्तर है.

वर्ष 2020-21 के दौरान देश का विदेशी मुद्रा भंडार लगभग 62 अरब डॉलर बढ़ा है. रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) ताजा आंकड़ों के मुताबिक 17 अप्रैल को खत्म हुए सप्ताह के दौरान विदेशी मुद्रा एसेट्स (जो विदेशी मुद्रा का सबसे बड़ा हिस्सा हैं) 1.55 अरब डॉलर बढ़कर 441.88 अरब डॉलर के बराबर रहा था.

एयर इंडिया के कर्मचारियों ने उड्डयन मंत्रालय को लिखी चिट्ठी, कहा- हमारे वेतन में ना की जाए कटौती

अब जरुरी उत्पाद बेच सकेंगी ई- कॉमर्स कंपनियां, केंद्र सरकार ने जारी किया नया आदेश

मध्य प्रदेश में लॉकडाउन का पड़ेगा बुरा असर, 12 साल पीछे चले जाएगी अर्थव्यवस्था

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -