क्या था ऑपरेशन मेघदूत ,जानिये भारतीय सैनिको की अमर गाथा का एक अध्याय !
क्या था ऑपरेशन मेघदूत ,जानिये भारतीय सैनिको की अमर गाथा का एक अध्याय !
Share:

आपरेशन मेघदूत के 40 साल पूरे होने पर भारतीय सेना ने एक  वीडियो किया जारी और सियाचिन वाले क्षेत्र में की गई पहल के बारे में बताया 

  'ऑपरेशन मेघदूत' की 40वीं वर्षगांठ पर, सेना के अधिकारियों ने सियाचिन ग्लेशियर क्षेत्र में की गई  पहलों के बारे में जानकारी  की। उन्होंने बताया कि मोबाइल कनेक्टिविटी में काफी सुधार हुआ है। वीएसएटी तकनीक की शुरूआत ने ग्लेशियर पर संचार की क्रांति लाई है, जिससे सैनिकों को डेटा और इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान की जा रही है। 

  गौरतलब है की 1984 में, सियाचिन ग्लेशियर पर कब्जे के लिए भारतीय सशस्त्र बलों ने 'ऑपरेशन मेघदूत' का आयोजन किया था। पाकिस्तान की ओर से 'अबाबील' नामक ऑपरेशन के तहत, 17 अप्रैल तक सियाचिन पर कब्जा करने की योजना बनाई गई थी। हालांकि, भारतीय सेना ने 13 अप्रैल को ही सियाचिन में अपना झंडा लहरा दिया। इस ऑपरेशन में शहीद हुए लांसनायक चंद्रशेखर का शव 38 साल बाद, 2022 में मिला था।
सियाचिन ग्लेशियर दुनिया का सबसे ऊंचा युद्ध क्षेत्र है, जिसकी ऊंचाई करीब 20,000 फीट है। यहां सालभर बर्फ जमी रहती है

इस्लामिक स्टेट का आतंकी है बैंगलोर के कैफ़े में ब्लास्ट करने वाला अब्दुल! कनेक्शन खंगालने में जुटी NIA

अपना वादा भूले उमर अब्दुल्ला! लोकसभा चुनाव में इस सीट से ठोकेंगे ताल, जानिए पहले क्या कहा था ?

किस आयु वर्ग के लोगों को इस बीमारी का खतरा अधिक होता है? विशेषज्ञों से लक्षण और जानें बचाव

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -