वैश्विक प्रतिस्पर्धी सूचकांक में भारत को मिली बढ़त, आया 55वें स्थान पर

वैश्विक प्रतिस्पर्धी सूचकांक में भारत को मिली बढ़त, आया 55वें स्थान पर

अर्थव्यवस्था के मामले में भारत की दशा में सुधार देखने को मिल रहा है और अब हाल ही में इसके कारण ही भारत को चौंकाने वाली बढ़त हासिल हुई है. कहा जाये तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आर्थिक सुधार की एक झलक सामने आने लगी है. आपको बता दे कि भारत ने हाल ही में विश्व की सबसे बड़ी प्रतिस्पर्धी अर्थव्यवस्थाओं के एक वैश्विक प्रतिस्पर्धी सूचकांक में लम्बी छलांग लगाने में सफलता हासिल की है. और इसी के साथ भारत इस सूचि में 55 वें स्थान पर पहुँच गया है.

बताया जा रहा है कि भारत के द्वारा 16 पोजीशन को क्रॉस किया गया है और इसी के साथ भारत 71 वें स्थान से 55 वें स्थान पर आने में सफल हुआ है. साथ ही मामले में आपको यह भी बता दे कि अभी इस सूचि में स्विट्जरलैंड टॉप पर बना हुआ है. हाल ही में विश्व आर्थिक मंच के द्वारा जारी की गई वैश्विक प्रतिस्पर्धी रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि देश में लगातार हो रहे सुधारों के कारण और भारत की प्रतिस्पर्धी क्षमता पर यह सकारात्मक असर देखने को मिल रहा है.

इस सूचि के बारे में आपको और बताये तो यहाँ दूसरे स्थान पर सिंगापुर, तीसरे पर अमेरिका, चौथे पर जर्मनी और पांचवे पर नीदरलैंड बना हुआ है. इसके साथ ही रिपोर्ट में यह बात भी कही गई है कि भारत के इस तरह से रैंकिंग में इजाफे को देखकर यह कहा जा सकता है कि यहाँ की इकॉनमी को तेजी से रिकवर किया जा रहा है. इसके साथ ही यहाँ संस्थानों की क्षमता में भी बेहतरी देखी गई है.