ईद मुबारक: क़ुरबानी के पर्व पर लीजिये इन बातों का संकल्प

आज बक़रीद है, मुस्लिम समुदाय का ईद का यह त्यौहार कुर्बानी का त्यौहार है। वैसे तो आप हम सब यही देखते है कि बक़रीद पर बकरे की कुर्बानी दी जाती है, किन्तु इस त्यौहार को मनाने के पीछे की सच्चाई बहुत ही कम लोग जानते होंगे। अल्लाह की राह में कुर्बानी दे कर अल्लाह को खुश किया जाता है। अब बकरे की कुर्बानी क्यो दी जाती है, ये भी आप जानना चाहेंगे।

हजरत इब्राहीम से अल्लाह ने इम्तेहान लिया था कि उनके लिए उनका बेटा बढ़ कर है या अल्लाह! बेटे से मोहब्बत तो उन्हें थी, वह अपने बेटे को खोना नही चाहते थे मगर खुदा की राह में वह अपने बेटे को कुर्बान करना शुरू कर दिया। उनसेबेटे की तकलीफ नही देखी जाती इसलिए उन्होंने आंखों पर पट्टी बांध ली। आंखों पर पट्टी बांध कर जैसे ही उन्होंने बेटे को जबह करना शुरू किया, अल्लाह ने खुश हो कर वहां से उनके बेटे को हटा कर बकरा रख दिया। तभी से ये प्रथा कायम है। इस पर्व पर कुर्बानी का सवाब या कह सकते है पूण्य तभी मिलता है जब आप बकरे का घर मे पालन पोषण करे। वह आपके घर के सदस्य की तरह बन जाए और जब उसकी कुर्बानी दी जाए तब आपको बहुत तकलीफ हो।

अल्लाह कुर्बानी से खुश होता है, मगर जिंदगी के किसी भी मोड़ पर कुर्बानी दी जा सकती है अपने मोह की, अपनी ख्वाहिशों की तो कभी किसी की खातिर अपने अधिकारों की।कुर्बानी कुर्बानी होती है, वह भले रूह से हो या शरीर से, जब तक रूह को इस का थोड़ा बहुत भी दर्द न हो तब तक यह कुर्बानी नहीं कहलाती। पहले राजा महाराजा के समय ऐसी भी स्थिति आई कि अन्न नही है और युद्ध चल रहा है ऐसी स्थिति में अपनी प्रजा के लिए राजा ने खुद के हिस्से का अन्न बांट दिया। कुर्बानी इसे कहते है। चाहे तो आप भी कुर्बानी दे सकते है, यदि आप बच्चे है तो माता-पिता के आगे अपनी ऊंची ऊंची डिमांड की, यदि आप बड़े है तो अपने मोह और गैर जरुरति चाह की।

कुर्बानी हर हाल में कुर्बानी ही होती है, खुदा इससे खुश होता ही है। वह कहते है ना वह कर जो मैं चाहता हु, फिर होगा वह जो तू चाहता है। तो आइए हम भी किसी जरूरतमंद के आगे अपना मोह त्याग दे ताकि किसी की जरूरत पूरी ही सके और इंसानियत की राह में कुछ भला काम हमसे भी हो जाए।

जानिए क्या चल रहा है हमारे देश की राजनीती में, पढिये राजनीतिक पार्टी से जुडी ताज़ा खबरें

 

क्या आपको पता है बकरा ईद में बकरे की कुर्बानी क्यों दी जाती है

बकरीद पर कुर्बानी के खिलाफ मुस्लिम समाज ने उठाई आवाज

पाकिस्तान ने आतंकवादी संगठन के बकरीद पर खाल इकट्ठा करने पर लगाई रोक

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -