'मैं 12 साल का था तब से यहाँ आ रहा, आपसे बरसों का रिश्ता..', पारंपरिक सीट अमेठी पर भावुक हुए राहुल गांधी
'मैं 12 साल का था तब से यहाँ आ रहा, आपसे बरसों का रिश्ता..', पारंपरिक सीट अमेठी पर भावुक हुए राहुल गांधी
Share:

अमेठी: 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी के हाथों अपनी पारम्परिक अमेठी सीट हारने के बाद बाद पहली बार राहुल गांधी ने अमेठी के लोगों से अपने रिश्तों पर बयान दिया है। अमेठी में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मैं 12 वर्ष का था, तब से यहां आ रहा हूं। मैंने अमेठी का वह वक़्त भी देखा है, जब यहां बंजर खेत हुआ करते थे। टूटी हुई सड़कें हुआ करती थीं। मैंने अपनी आंखों से अमेठी में बदलाव होते देखा है। मैं अपने पिता के साथ यहां आया करता था। मुझे यह कहने में कोई हिचक नहीं है कि राजनीति में मैंने जो कुछ भी सीखा, वो अमेठी से ही सीखा है। 

बता दें कि, अमेठी सीट 1967 से ही कांग्रेस के पास रही है। जबकि राहुल का जन्म 1970 से हुआ। 1980 के बाद से केवल 2 साल (1996-1998) को छोड़ दें, तो इस सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार संजय गांधी, राजीव गांधी, सोनिया गांधी चुनाव जीतते रहे हैं। अब राहुल यदि कह रहे हैं कि, उन्होंने अमेठी में बंजर खेत, टूटी सड़कें देखी हैं, तो वे अपनी ही पार्टी पर सवाल उठा रहे हैं कि उन्होंने इस क्षेत्र में कोई काम नहीं किया? क्योंकि काफी समय तक तो ये सीट कांग्रेस के ही कब्जे में रही। बहरहाल, फिलहाल राहुल गांधी अपनी पार्टी के पारम्परिक गढ़ को वापस पाने के लिए पुरजोर कोशिशें कर रहे हैं। 

उन्होंने जनसभा के दौरान भावुक लहजे में कहा कि ऐसा नहीं है कि मैंने अमेठी को छोड़ दिया है। मैं अमेठी का था, अमेठी का हूं और अमेठी का ही रहूंगा। यह रिश्ता एक दो वर्षों का नहीं है, बल्कि हमेशा का है। कल मैं रायबरेली का सांसद बन जाउंगा। मगर एक बात हमेशा याद रखना कि मैं जितना रायबरेली का रहूँगा, उतना ही अमेठी का भी रहूँगा। रायबरेली के लिए जो भी विकास योजनाएं आएंगी, वो पूरी अमेठी में आएंगी। अमेठी में आपके सांसद केएल शर्मा अवश्य होंगे, मगर मैं भी आपका सांसद हूंगा। रायबरेली में अगर दस रुपए आते हैं, तो भरोसा रखिए कि अमेठी में भी दस रुपए आएंगे। 

कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि केएल शर्मा आपके उम्मीदवार हैं। आप इन्हे जीतकर संसद में पहुंचाइए, ये आपके मुद्दे उठाएंगे। केएल शर्मा में जरा भी अहंकार नहीं है। राहुल गांधी ने कहा कि राजीव गांधी जब यहां एक्टिव थे, तो उन्होंने नेताओं की एक टीम गठित की थी। उस टीम की काफी सारे लोग सरकार और संगठन के बड़े-बड़े पदों पर चले गए, मगर के एल शर्मा आपके बीच रह गए। उन्होंने चालीस वर्षों तक आपके साथ रिश्ता कायम रखा। आप इनके हाथों को मजबूत कीजिए। 

'इस छूरे से कई बकरे हलाल किए हैं..', दूधमुंहे बच्चे पर चाक़ू रख मॉडल का रेप करता रहा काशान, इस्लाम कबूलने का दबाव

'जज साहब चुनाव..', कहते रह गए कपिल सिब्बल, सुप्रीम कोर्ट ने हेमंत सोरेन की जमानत पर टाल दी सुनवाई !

पीड़ित महिलाओं को बयान बदलने के लिए धमका रहे TMC के गुंडे ! अब संदेशखाली में खुद कैंप लगाएगी CBI, तैनात होगा केंद्रीय बल

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -