सर्दी में करें इन चीजों का सेवन, ख़त्म होगा हार्ट अटैक का खतरा
सर्दी में करें इन चीजों का सेवन, ख़त्म होगा हार्ट अटैक का खतरा
Share:

जैसे-जैसे सर्दी का मौसम आता है, हमारे खान-पान की आदतों में काफी बदलाव आता है। इस मौसम में हम भारी भोजन खाने पर अधिक ध्यान देते हैं, जो हमारे रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रभावित कर सकता है। रक्त में कोलेस्ट्रॉल का बढ़ा हुआ स्तर हृदय स्वास्थ्य के लिए खतरा पैदा कर सकता है। आहार एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर को प्रबंधित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, खासकर सर्दियों के मौसम में। लोग अक्सर ठोस खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन करते हैं और इस दौरान तरल खाद्य पदार्थों का सेवन कम कर देते हैं, जिससे विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। लगातार उच्च कोलेस्ट्रॉल स्तर वाले लोगों के लिए, अपने आहार में कुछ पौधे-आधारित रसों को शामिल करना स्वाभाविक रूप से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में फायदेमंद हो सकता है।

कोलेस्ट्रॉल के स्तर को आसानी से प्रबंधित करने और हृदय को स्वस्थ रखने के लिए कुछ पौधे-आधारित पेय जैसे हरी चाय, सोया दूध और टमाटर का रस का सेवन किया जा सकता है। अपोलो अस्पताल की मुख्य पोषण विशेषज्ञ डॉ. प्रियंका रोहतगी के अनुसार, इसे अपने आहार में शामिल करने से पहले यह विचार करना महत्वपूर्ण है कि पेय हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है या नहीं। आइए इनमें से कुछ स्वस्थ पेय के बारे में जानें जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने और दिल को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

ग्रीन टी का सेवन:
ग्रीन टी स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक फायदेमंद है, क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करती है और हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है। इसमें एपिगैलोकैटेचिन गैलेट नामक प्रमुख घटक होता है, जो एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है। यह घटक हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में सहायता करता है। कई अध्ययनों से पता चला है कि ग्रीन टी के नियमित सेवन से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो सकता है और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के अनुपात में सुधार हो सकता है। 2015 में किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर पानी पीने से चूहों में कोलेस्ट्रॉल का स्तर धीरे-धीरे 14.4 से 30.4 प्रतिशत तक कम हो गया।

ग्रीन टी का प्रभावी ढंग से सेवन करने के लिए रोजाना दो से तीन कप ग्रीन टी पीने की सलाह दी जाती है। अधिकतम लाभ के लिए अपनी चाय में चीनी और उच्च वसा वाले डेयरी उत्पाद मिलाने से बचें।

सोया दूध की खपत:
सोया दूध, एक डेयरी विकल्प, में फाइटोस्टेरॉल होता है, जो पौधे के यौगिक होते हैं जो संरचनात्मक रूप से कोलेस्ट्रॉल के समान होते हैं। ये फाइटोस्टेरॉल आंतों में आहार कोलेस्ट्रॉल के अवशोषण को कम करने में मदद कर सकते हैं। सोया दूध के नियमित सेवन से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी देखी गई है। अपने आहार में सोया दूध को शामिल करने के लिए, अपने अनाज या स्मूदी में डेयरी विकल्प के रूप में एक गिलास बिना चीनी वाला सोया दूध लेने पर विचार करें। बेहतर परिणामों के लिए प्रतिदिन सोया दूध की एक से दो सर्विंग का सेवन करें।

टमाटर के रस का सेवन:
टमाटर के रस का सेवन कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने और हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। टमाटर लाइकोपीन से भरपूर होते हैं, जो एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है। टमाटर के रस के नियमित सेवन से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी देखी गई है। शोध बताते हैं कि टमाटर का रस महिलाओं के लिए विशेष रूप से प्रभावी है।

टमाटर के रस को अपने आहार में शामिल करने के लिए अपने दिन की शुरुआत एक गिलास टमाटर के रस से करें। यह सरल कदम आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को आसानी से नियंत्रित करने और आपके दिल को स्वस्थ रखने में आपकी मदद कर सकता है।

इन स्वस्थ पौधों पर आधारित पेय को अपने आहार में शामिल करके, आप अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रभावी ढंग से प्रबंधित कर सकते हैं और स्वस्थ हृदय को बढ़ावा दे सकते हैं।

त्वचा को निखारने के लिए जरुरी है फेस मिस्ट, ऐसे करें तैयार

वेट लॉस के बाद बढ़ गई है भूख, तो अपनाएं ये ट्रिक्स

आपकी स्किन को चमका सकते है इन फलों के छिलके, ऐसे करें इस्तेमाल

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -