कोरोना टीकाकरण पर मोदी सरकार ने अब तक कितने पैसे खर्च किए ?

नई दिल्ली: संसद के मॉनसूत्र सत्र के दौरान अब तक दोनों सदनों की कार्यवाही हंगामे की भेट चढ़ चुकी है. इस सत्र में Pegasus जासूसी कांड के साथ कोरोना माहमारी का मुद्दा सबसे गर्म है. इस बीच सरकार ने कहा है कि दिसंबर तक 18 वर्ष से अधिक आयु वालों का टीकाकरण हो जाएगा. वहीं, वैक्सीनेशन ड्राइव पर 9725.15 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं. 

दरअसल, सत्र के दौरान कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने 18 से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण और अब तक हुए खर्च का ब्यौरा मांगा था, जिसका जवाब स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की तरफ से दिया गया है. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री डॉक्टर भारती प्रवीण पवार की तरफ से दिए गए जवाब में बताया गया है कि टीकाकरण एक सतत और व्यापक प्रक्रिया है. अगस्त, 2021 से दिसंबर 2021 के टीके की कुल 135 करोड़ डोज मुहैया होने का अनुमान है और 18 से अधिक आयु वालों का टीकाकरण दिसंबर 2021 तक हो जाएगा.  

स्वदेशी वैक्सीन की खरीद और अब तक हुए खर्च के प्रश्न पर राज्य मंत्री डॉक्टर भारती प्रवीण पवार ने कहा कि स्वदेशी टीका बनाने वाली कंपनियों के साथ खरीद में कोई देरी नहीं हुई है. कंपनियों को दिए गए सप्लाई ऑर्डर्स के लिए अग्रिम भुगतान भी कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि वैक्सीन और वैक्सीनेशन ड्राइव पर 9725.15 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं. 

पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने बीजेपी पर लगाया पेगासस के इस्तेमाल का आरोप

शादी करने वालों को स्मृति ईरानी ने दी मजेदार सलाह, वायरल हो रही पोस्ट

मोटुपल्ली नरसिम्हुलु ने भाजपा से दिया इस्तीफा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -