वेद कितने होते है और कैसे हुई इनकी उत्पत्ति, जानिए पौराणकि कथा
वेद कितने होते है और कैसे हुई इनकी उत्पत्ति, जानिए पौराणकि कथा
Share:

वेदों और पुराणों से मनुष्य को आध्यात्मिक जीवन व्यापन करने की प्रेरणा प्राप्त होती है। वैदिक ज्ञान भी स्मृतियों, उपनिषदों और पुराणों से प्राप्त होता है। हालाँकि, क्या आप वेदों के लेखक और हिंदू धर्म की सबसे पुराने ग्रन्थ, जिसे 'वेद' के नाम से जाना जाता है, किसके द्वारा रचित है।

वेदों के विभिन्न प्रकार

ऋग्वेद (Rigveda)
यजुर्वेद (Yajurveda)
सामवेद (Samaveda)
अथर्ववेद (Atharvaveda)

वेदों के रचयिता कौन हैं

वेद अद्वितीय है क्योंकि इसकी रचना मनुष्यों द्वारा नहीं की गयी। मान्यताओं के अनुसार, वेदों का ज्ञान ईश्वर से ऋषियों तक, ऋषियों से शिष्यों तक और इसी तरह से आम लोगों तक पहुँचाया गया। यही कारण है कि वेदों को श्रुति कहा जाता है, जिसका अनुवाद 'सुना हुआ' होता है। ऋषियों ने ज्ञान के लिए गहन ध्यान के दौरान वेदों को सूक्ष्म तरंगों के रूप में प्राप्त किया, क्योंकि वे ईश्वर द्वारा प्रकट किए गए थे।

यही कारण है कि ऋषियों ने वेदों को सुना और उन्हें 'श्रुति' कहा। ऋषियों ने मानवता की भलाई के लिए इस ज्ञान का प्रसार किया और अपने शिष्यों को वेदों की शिक्षाएँ सुनाना शुरू किया। इसके बाद, शिष्यों ने वेदों का ज्ञान अपने शिष्यों को दिया।

यही कारण है कि यह कहा जाता है कि वेद कालातीत है क्योंकि इसे किसी ने नहीं बनाया है, इसलिए इसकी उत्पत्ति का पता लगाना असंभव है। पिछले दस हजार वर्षों के दौरान मनुष्यों ने सरल भाषा का प्रयोग करते हुए वेदों को लिखा है।

मान्यता के अनुसार वेदों को अनंत माना जाता है और कहा जाता है कि इनके ज्ञान का कोई आरंभ या अंत बिंदु नहीं है। ऋषि वेदव्यास द्वारा वेदों के संपूर्ण ज्ञान को चार प्रकारों (ऋग्वेद, यजुर्वेद, सामवेद और अथर्ववेद) में वर्गीकृत किया गया था। वेदों को लिखने का श्रेय महर्षि वेदव्यास को दिया जाता है, जबकि उन्हें वेदो को केवल लिपिबद्ध किया था।

घर में लॉफिंग बुद्धा रखने के फायदे जानिए, नकारात्मक ऊर्जा होगी दूर

इन 2 दिन भूलकर भी ना जलाए अगरबत्ती, वरना भुगतना पड़ सकता है भारी हर्जाना

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -