'रात में 12 बजे शाहजहाँ शेख कैसे कर सकता है महिलाओं का यौन उत्पीड़न?', बोले ममता बनर्जी के मंत्री
'रात में 12 बजे शाहजहाँ शेख कैसे कर सकता है महिलाओं का यौन उत्पीड़न?', बोले ममता बनर्जी के मंत्री
Share:

कोलकाता: संदेशखाली में ED पर हुए हमले के मामले में शेख शाहजहाँ को बंगाल पुलिस ने 29 फरवरी 2024 को अरेस्ट कर लिया। तत्पश्चात, खबर आई कि TMC ने उसे पार्टी से 6 वर्षों के लिए सस्पेंड कर दिया है। पार्टी के कुछ नेता जहाँ इस ऐलान के पश्चात इस मामले से पल्ला झाड़ते नजर आए तो वहीं पर कुछ नेता ऐसे भी थे जो खुलकर शेख शाहजहाँ के समर्थन में आ गए।

ममता सरकार में कैबिनेट मंत्री उदयन गुहा उन्हीं लोगों में से एक हैं। संदेशखाली में इतना सब कुछ होने के बाद भी उदयन गुहा ने कहा कि उसे (शेख शाहजहाँ को) दुष्प्रचार के माध्यम से फँसाया गया है। अफवाह में फँसाया गया है। वरना शेख शाहजहाँ तो कभी भी ऐसा कुछ कर ही नहीं सकता। उन्होंने शाहजहाँ का बचाव करते हुए कहा- “मैं पक्का नहीं कह सकता है कि ये शेख शाहजहाँ को किसी की साजिश है या नहीं। मगर उसके ऊपर जो आरोप लगे हैं वो एक गलती हैं। उसे झूठा फँसाया गया है। ऐसा तब से हो रहा है जब से ED अफसरों पर हमला हुआ है। अतीत में, हमने शेख शाहजहाँ के खिलाफ ये आरोप कभी नहीं सुने हैं।”

वही ये जानते हुए शेख शाहजहाँ के विरुद्ध संदेशखाली की कई स्थानीय महिलाओं ने यौन उत्पीड़न तक के गंभीर आरोप लगाए हैं… उदयन गुहा बोलते दिखते हैं- “मुझे नहीं पता था कि उसे रात के 12 बजे पीठा (महिलाओं के यौन उत्पीड़न की तरफ इशाारा करते हुए) खाना पसंद है। मैं जानता था कि ऐसी हरकत करने का मन सुबह-सुबह या फिर रात को सोते वक़्त होता है।” संयोग से ये शब्द जिन TMC मंत्री के हैं उनपर उनके ही संसदीय क्षेत्र दिनहाटा में यौन उत्पीड़न का आरोप लग चुका है। एक वीडियो 21 फरवरी को वायरल हुई थी। इसमें एक महिला दिखाई दे रही थी जिसका कहना था कि उदयन गुहा ‘पीठा’ बनवाने के नाम पर उनका यौन उत्पीड़न करते थे।

महिला ने कहा था, “तकरीबन 12 बजे, उदयन गुहा तथा उनके साथियों ने पार्टी कार्यालय में ‘पीठा’ बनाने के लिए बुलाया। मगर मैंने मना कर दिया तथा आधी रात को पीठा बनाने की उनकी बेतुकी बात पर सवाल उठाया। क्या वे इसलिए हमारी इज्जत नहीं करते क्योंकि हम महिला हैं?…मुझे समय-समय पर उत्पीड़न का शिकार होना पड़ा है। मैंने हाथ जोड़कर विनती की, क्या वे मुझे शांति से नहीं रहने देंगे? मगर वे नहीं माने। कल पंचायत और बूथ अध्यक्ष आए और मुझे कल आने का निर्देश दिया। मगर मैंने ये बोलकर मना कर दिया कि मेरी कुछ इज्जत है। मैंने हाथ जोड़कर विनती की पर उनकी प्रतिक्रिया अधिक हिंसात्मक थी।”

सिद्धू मूसेवाला की तरह पंजाब के पूर्व CM चन्नी को मिली जान से मारने की धमकी, 2 करोड़ की मांगी फिरौती

'जब तक हिमंत बिस्वा सरमा जिंदा है, बाल विवाह नहीं होने देगा': असम CM

'हथियार लेकर आ रहे किसान', किसानों आंदोलन पर बोले त्रिवेंद्र सिंह रावत

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -