Mother's Day : जानिए क्यों और कब से हुई थी मदर्स डे की शुरुआत

'मां' एक ऐसा शब्द जिसमे जीवनभर की सारी खुशियां मिल जाती हैं. वैसे तो जीवनभर के सभी दिन मां के नाम ही होते है लेकिन फिर भी साल में एक बार मां के दिन को 'मदर्स डे' के रूप में मनाया जाता है. इस साल 13 मई को मदर्स डे के रूप में सेलिब्रेट किया जाएगा. आपके भी मन में कभी तो ये सवाल आया ही होगा कि आख़िरकार ये मदर्स डे मनाया क्यों जाता है और सबसे पहले इसे सेलिब्रेट करने की शुरुआत की किसने थी. तो चलिए आपको बताते है कि सबसे पहले मदर्स डे की शुरुआत किसने की थी.

-मदर्स डे की शुरुआत सबसे पहले ग्रीस से हुई थी. इस देश में मां को पूजने के लिए और उनके सम्मान के लिए एक दिन तय किया था जिसे यहाँ मदर्स डे के रूप में मनाया जाता है.

-ऐसा कहा जाता है कि 'स्यबेले' ग्रीक देवताओ की मां थी. इसलिए उन्हें सम्मान देने के लिए एक दिन तय हुआ था जिसे मदर्स डे कहा गया था. इस दिन को यहाँ त्यौहार के रूप में भी मनाया जाता है. -वही कुछ कहानियां ऐसा भी कहती है कि मदर्स डे की शुरुआत वर्जिनिया में एना जार्विस ने की थी. दरअसल एना जार्विस अपनी मां से बहुत प्यार करती थी और वो उनसे प्रेरित भी थी. जब एना की मां की मृत्यु हो गई तो उन्होंने मां को प्यार जताने के लिए इस दिन की शुरुआत की थी.

-वही अगर ईसाई धर्म की बात करे तो इस धर्म के लोग मदर्स डे को 'वर्जिन मेरी' का दिन मानते है. ईसाई धर्म मदर्स डे पर वर्जिन मेरी को फूल और गिफ्ट्स देते है और उनकी प्रार्थना करते है.

-यूएस में मदर्स डे 2 जून को मनाया जाता है. इस दिन को यहाँ शांति दिवस के तौर पर मनाया जाता है.

Mother's Day 2018 : ये गिफ्ट्स देकर आप अपनी माँ को कर सकते हैं खुश

Mother's Day : 'गम की आह में' 'ख़ुशी की राह में' हर जगह "माँ" तुम ही तो हो

Mothers Day पर बेहतरीन शायरियां

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -