हाई कोर्ट ने सारा मर्डर केस में दी अमनमणि को जमानत

लखनऊ. उत्तरप्रदेश के पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि त्रिपाठी को इलाहाबाद कोर्ट ने जमानत दे दी है. वह अपनी पत्नी सारा के मर्डर केस में जेल में बन्द थे. कोर्ट ने जमानत देते हुए कहा कि अमनमणि त्रिपाठी अपना पासपोर्ट जमा करा दें, ताकि देश छोड़कर न जा सकें. साथ ही इस मामले में जाँच में सहयोग करने को कहा है.

बता दे कि अमनमणि नौतनवां से 2017 विधानसभा का चुनाव लड़ रहे है. अमरमणि त्रिपाठी बहुचर्चित मधुमिता शुक्ला हत्याकांड में पहले से ही जेल में बंद हैं. अमनमणि त्रिपाठी पर अपनी पत्नी सारा की हत्या का आरोप है. बीते वर्ष 9 जुलाई को फिरोजाबाद नेशनल हाइवे पर एक कार एक्सीडेंट में सारा सिंह की मौत हो गई थी. इस कार एक्सीडेंट के हादसे में अमनमणि त्रिपाठी को कुछ भी नहीं हुआ था बल्कि मामूली चोट आई थी. इस मामले पर सारा की माँ सीमा सिंह की शिकायत पर अमनमणि के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी साथ ही उत्तरप्रदेश पुलिस की जाँच में लापरवाही के चलते शिकायत हुई थी.

सीमा सिंह का आरोप है कि अमनमणि ने सारा सिंह की हत्या की है. अमनमणि के माता पिता सारा और अमरमणि की शादी के खिलाफ थे. उन्होंने वर्ष 2013 में आर्य समाज मंदिर में शादी की थी. दूसरी और अमनमणि ने सारा की मौत को एक्सीडेंट बताया था. बता दे कि नौतनवां सीट से अमनमणि चुनाव लड़ रहे है, उन्हें पहले समाजवादी पार्टी से टिकट मिला था, किन्तु बाद में अखिलेश यादव ने उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया.

ये भी पढ़े 

लखनऊ एनकाउंटर के बाद, पकड़ाया आतंकी माॅड्यूल का मास्टर माईंड

इस बाहुबली मंत्री के बेटे को चुनाव नामांकन के लिए मिली पैरोल

UP Election 2017 : सोशल मीडिया पर हिट रहे PM मोदी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -