एयर फ़ोर्स सतर्क, पश्चिमी कमान को हाईअलर्ट, देखते ही गोली मारने का आदेश

नई दिल्ली: पठानकोट आतंकी हमले के बाद रक्षा मंत्रालय ने एक बैठक आयोजित की जिसमे तय हुआ की वायुसेना अपने प्रतिष्ठानों की सुरक्षा को लेकर और अधिक सुरक्षा के इंतजाम करे. देश में आतंकी हमलो की वारदात के बाद भारतीय वायुसेना अपनी सुरक्षा को लेकर सतर्क हो गई है. इसी वजह के चलते उसने पश्चिमी कमान के अंदर आने वाले तक़रीबन 20 एयरबेस पर हाईअलर्ट जारी कर दिया है. इसका मतलब यह है की यदि कोई संदिग्ध गैरकानूनी तरीके से एयरबेस के अंदर घुसने की कशिश करता है तो सुरक्षा गार्ड को ये अधिकार होगा कि वो उसे गोली मार दे.

बता दे की वायुसेना का पश्चिमी कमान का क्षेत्र सूरतगढ़ से लेकर लेह तक फैला है. साथ ही साथ पठानकोट आतंकी हमले के बाद वायुसेना ने अपने 54 एयरबेस की सिक्युरिटी ऑडिट भी करवाया है. इसके तहत सभी एयरबेस में खतरे के मुताबिक सुरक्षा और कड़ी की जाएगी.

नतीजन अब हर एयरबेस में स्मार्ट फेंसिंग लगाये जाएंगे, बता दे की ये एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक सेंसर होता है जिसके जरिये न केवल ये तस्वीर ले सकता है बल्कि कंपन या आवाज होने पर उसे तुरंत पकड़ लेता है. CCTV कैमरा, थर्मल कैमरा सहित क्वाड्रा टाइप का ड्रोन और मोशन सेंसर भी लगाए जाएंगे.

साथ ही साथ एयर फ़ोर्स अपनी स्पेशल फोर्स गरुड़ कमांडो की संख्या और बढ़ाएगी.राज्य सरकारों से वायुसेना ने अपील की है कि वो एयरबेस के पास हुए अतिक्रमण को हटाए ताकि बेस की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -