आज से इलाहाबाद उच्च न्यायालय में होगी नए तरीके से सुनवाई

इलाहाबाद: कोरोना महामारी के कारण कई क्षेत्रो के कार्यो में परिवर्तन आया है. इसी के साथ अब इलाहाबाद उच्च न्यायालय में बुधवार, 22 जुलाई से केवल वीडियो कांफ्रेंसिंग से ही सुनवाई होगी. इसके लिए पहले से निर्देश तय हैं. इसी क्रम में मुकदमों का दाखिला भी ई-फाइलिंग से ही होगा. वही अगले आदेश तक खुली अदालत में मुकदमों की सुनवाई पूरी तरह से ठप रहेगी. इस बार उच्च न्यायालय ने व्यवस्था में परिवर्तन करते हुए 22 जुलाई से अगले आदेश तक केवल वीडियो कांफ्रेंसिंग से मुकदमों की सुनवाई का फैसला लिया है.

केवल ही इतना ही नहीं  बल्कि बस उन्हीं पुराने मुकदमों में सुनवाई होगी जिनमें अर्जेंसी प्रार्थना-पत्र दिया जाएगा. अर्जेंसी एप्लीकेशन स्वीकृत होने के पश्चात् ही मुकदमा सुनवाई के लिए सूचि होगा. फ्रेश मुकदमों में अर्जेंसी प्रार्थना पत्र देने की जरुरत नहीं होगी. नए मुकदमे केवल ई फाइलिंग के माध्यम से ही स्वीकार किए जाएंगे. वीडियो कांफ्रेंसिंग से सुनवाई के लिए पहले से जारी किये गए अन्य आदेश ही लागू रहेंगे.

साथ ही वकीलों की सुविधा के लिए उच्च न्यायालय ने ऑन साइट और ऑफ साइट सुनवाई की व्यवस्था जारी की है. ऑन साइट के तहत गेट संख्या तीन ए और तीन बी तथा गेट संख्या पांच तथा स्टेडियम साइड में वीडियो कांफ्रेंसिंग क्यूब बनाए गए हैं. हर क्यूब को एक कोर्ट रूम के लिए एलाट किया गया है, जिसकी सम्पूर्ण सूचना उस क्यूब के बाहर लिखी होगी. यह उच्चन्यायालय की आधिकारिक वेबसाइट पर भी उपलब्ध है. यहां पर वीडियो कांफ्रेंसिंग की सम्पूर्ण सुविधा उपलब्ध रहेगी. उच्च न्यायालय से सीधे लिंक होने की वजह से  क्यूब में नेटवर्क की समस्या नहीं होगी. 

हरियाली तीज : इस विधि के साथ करें शिव-पार्वती का पूजन

केरल कस्टम अफसरों ने महिला यात्री के पास से बरामद की 24K की सोने की जंजीर

हरियाली तीज : मथुरा में श्री कृष्ण को लगता है विशेष भोग, जानिए त्यौहार का महत्व

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -