राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क में 242 गजराज मिले

हरिद्वार में राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क में दो दिन की गणना के बाद कुल 242 गजराज दिखाई दिए। इसके साथ ही दो दिन की इस गणना के आधार पर पार्क की चीला रेंज में सबसे ज्यादा तो कांसरो रेंज में एक भी हाथी दिखाई नहीं दिखा। इसके साथ ही अंतिम दिन पार्क और हरिद्वार वन प्रभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी देर रात तक हाथी गणना में जुटे रहे।आपकी जानकारी के लिए बता दें की  मंगलवार को पार्क प्रशासन और हरिद्वार वन प्रभाग की ओर से मिलान एवं  पहचान के बाद हाथियों की प्रमाणिक संख्या जारी की जाएगी। 

राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क के चीला वन्यजीव प्रतिपालक एलपी टम्टा ने बताया कि पार्क की चीला, गौहरी रेंज और रवासन यूनिटन में दो दिन की गणना के बाद कुल 120 हाथी दिखाई दिए। चीला रेंज में सबसे अधिक 80, रवासन में 37 और गौहरी रेंज में तीन हाथी दिखे। वहीं पार्क के हरिद्वार वन्यजीव प्रतिपालक कोमल सिंह ने बताया कि रामगढ़ रेंज में 53, मोतीचूर रेंज में 31, हरिद्वार एवं बेरिवाड़ा रेंज में 14-14 और धौलखंड रेंज में दो हाथी दिखाई दिए।वहीं  कांसरों रेंज में एक भी हाथी नहीं दिखाई दिया। वहीं सोमवार को अंतिम दिन देर रात तक गणना जारी रही। इसके साथ ही मंगलवार को पार्क और हरिद्वार वन प्रभाग के मिलान के बाद हाथियों की प्रमाणिक संख्या जारी की जाएगी।

आपकी जानकारी के लिए खास बात यह है कि पार्क की सभी रेंजों में दिखाई दिए कुल 242 हाथियों में से चीला और रामगढ़ रेंज में अकेले 133 हाथी दिखे। वहीं चीला और रामगढ़ रेंज में हाथियों की यह संख्या पार्क में दिखे कुल हाथियों की संख्या के आधे से भी अधिक है। हालांकि तीन दिन की पूर्ण हाथियों के गणना के बाद ही सही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। वहीं हरिद्वार वन प्रभाग की हरिद्वार रेंज, श्यामपुर, रसियाबढ़, खानपुर और चिड़ियापुर रेंज में हाथी दिखाई दे रहे हैं। वहीं हरिद्वार रेंजर दिनेश नौडियाल ने बताया कि दो दिन की गणना में हरिद्वार रेंज में किशनपुर के पास खेर टापू पर तीन टस्कर हाथी दिखाई दिए। अन्य रेंजों में भी हाथी दिखाई दे रहे हैं।

राज्य में आज सामने आए 77 नए मामले, जानिये कुल संक्रमितों की संख्या

नैनीताल जिला हुआ रेड जोन से बाहर, डीएम ने आदेश किया जारी

पूर्व मुख्यमंत्री फैसिलिटी एक्ट 2019 को हाईकोर्ट ने असंवैधानिक किया घोषित

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -