Happy Rose Day : गुलाब की खूबसूरती भी फिकी सी लगती हैं जब तेरे चेहरे पर मुस्कान खिल उठती हैं

1- हैप्पी रोज डे 

2- मेरी दीवानगी की कोई हद नहीं,

तेरी सूरत के सिवा मुझे कुछ याद नहीं,

मैं गुलाब हूँ तेरे गुलशन का,

तेरे सिवाए मुझपर किसी का हक नहीं।

3- जिसे पाया ना जा सके वो जनाब हो तुम,

मेरी जिंदगी का पहला ख्वाब हो तुम,

लोग चाहे कुछ भी कहे लेकिन…

मेरी ज़िंदगी का एक सुन्दर सा गुलाब हो तुम

4- बड़े ही चुपके से भेजा मेरे महबूब ने मुझे एक गुलाब,

कमबख्त उसकी खुश्बू ने सारे शहर में हंगामा कर दिया

5- प्यार के समंदर में सब डूबना चाहते है,

प्यार में कुछ खोते है तो कुछ पाते है,

प्यार तो एक गुलाब है, जिसे लोग तोड़ना चाहते है

हम इस गुलाब को सिर्फ चूमना चाहते है

6- ए-हसीन मेरा गुलाब कबूल कर,

हम तुमसे बेइन्तहा इश्क़ करते हैं,

अब नहीं इस ज़माने की परवाह हमको,

हम अपने इश्क़ का इज़हार करते हैं,

तुम नादानी समझो या शैतानी हमारी,

हम हर घडी तेरा इंतजार करते हैं |

7- मेरा हर ख़्वाब आज हकीक़त बन जाये,

जो हो बस तुम्हारे साथ ऐसी जिंदगी बन जाये,

हम लाये लाखों में एक गुलाब तुम्हारे लिए,

और ये गुलाब मोहब्बत की शुरुआत बन जाये

8- तेरी आहट से ही मेरे चेहरे पर मुस्कान आ जाती हैं,

तेरे होने का अहसास मेरी साँसे बयाँ कर जाती हैं,

ये सुन्दर गुलाब तेरी ही यादों का हिस्सा हैं

जिन्हें देख फिर से वो ख़ुशियाँ जवां हो जाती हैं|

9- गुलाब की खूबसूरती भी फिकी सी लगती हैं

जब तेरे चेहरे पर मुस्कान खिल उठती हैं

यूँही मुस्कुराते रहना मेरे प्यार तू

तेरी ख़ुशियों से मेरी साँसे जी उठती हैं

10- आपके होंटो पे सदा खिलते गुलाब रहे

खुदा ना करे आप कभी उदास रहे,

हम आपके पास चाहे रहे ना रहे,

आप जिन्हे चाहे वो सदा आपके पास रहे

11- तुम्हारी अदा का क्या जवाब दूँ, क्या प्यारा सा उपहार दूँ,

कोई तुमसे खूबसूरत गुलाब होता तो लाते, जो खुद गुलाब है उसको क्या गुलाब दूँ.

12- जिसको पा ना सके वो जनाब हो आप,

मेरी ज़िंदगी का पहला ख्वाब हो आप,

लोग चाहे कुछ भी कहे आपको,

लेकिन मेरे लिए सुन्दर सा गुलाब हो आप

13- बीते साल के बाद फिर से रोज डे आया हैं

मेरी आँखों में सिर्फ तेरा ही सुरूर छाया हैं

जरा तुम आकर तोह देखो एक बार

तुम्हारे इंतजार में पुरे घर को सजाया हैं|

14- आशिक़ों के महबूब के पैरो की धूल हूँ

हाँ मैं एक लाल गुलाब का फूल हूँ

15- आशिक़ों के महबूब के पैरो की धूल हूँ हाँ मैं एक लाल गुलाब का फूल हूँ होठों जैसे पंखुड़ियाँ मेरी कोमल काँटों से बच के ज़रा कहीं हो न जाओ घायल

16- पगली तू गुलाब के फूल जैसी है…

जिसे में तोड़ भी नहीं सकता

और छोड़ भी नही सकता

17- गुलाब से पूछो कि…

दर्द क्या होता है

देता है पैगाम मोहब्बत का

और खुद कांटो में रहता है

18- एक रोज उनके लिए

जो मिलते नहीं रोज़-रोज़,

मगर याद आते है हर रोज़।

19- फूलों में हसीन गुलाब है,

पढ़ाई के लिए ज़रूरी किताब है,

दुनिया में हर सवाल का जवाब है,

अगर कोई तुमसे मेरे बारे में पूछे

तो कहना वो लाजवाब है…

20- किसने कहा पगली तुझसे कि हम तेरी खूबसूरती पर मरते है, हम तो तेरी गुलाबी आखें पर मरते है, जिस अदा से तू हमे देखती है

अपने बयान से पलटे वरुण धवन के चाचा अनिल धवन, नताशा संग शादी को लेकर कही ये बड़ी बात

श्रद्धा कपूर एक बार फिर बनी बेजुबानों की आवाज़; जानवरों के साथ दुर्व्यवहार करने वाले लोगों को कड़ी सज़ा देने के लिए उठाई आवाज़!

ट्विटर पर कंगना को सस्पेंड करने का चला ट्रेंड, तो एक्ट्रेस ने दे डाली धमकी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -