लॉकडाउन के आठवें दिन नहीं मिला कोई कोरोना का मरीज, शहर को मिली राहत की सांस

ग्वालियर: बुधवार को ग्वालियर के लिए राहत का दिन रहा है. लॉकडाउन का आठवें दिन पहली बार पुलिस ने इतनी सख्ती दिखाई कि मुख्य बाजार से लेकर गली-मोहल्ले तक हर दुकान बंद रही कोई भी व्यक्ति घर के बहार नजर नहीं आया. सुबह 9 बजे तक के बाद लोग घरों से बाहर नहीं निकले इसलिए संक्रमण का खतरा कम रहा. उधर, जेएएच, जिला अस्पताल से जांच के लिए भेजे गए 48 संदिग्ध मरीजों के सैंपल निगेटिव आए है. आठ दिन से शहर में कोरोना का कोई नया मरीज नहीं मिला है. उधर, आटा और दवाओं का पर्याप्त स्टॉक भी शहर को जल्द मिलने की खबरें सामने आ रही हैं. बड़ी बात तो ये भी है कि प्रशासन ने खतरे को देखते हुए पांच हजार लोगों को रखने के लिए क्वारेंटाइन सेंटर भी ढूंढ़ लिए गए हैं।

वहीं, कोरोना वायरस को हराने के लिए टोटल लॉकडाउन के दौरान पहली बार शहर की सड़कें पूरी तरह सूनी नजर आई है. इसकी वजह पुलिस की लाठी को बताया जा रहा है. सुबह से इस व्यवस्था को बिगाड़ने की कोशिश करने वालों पर डंडा चला. चाहे सब्जी वाले हों, किराने की दुकान वाले या फिर आम लोग. यहां तक की दूध की दुकान पर भी भीड़ दिखी तो लाठी के जरिए इन्हें भगाया दिया गया. सुबह से जब पुलिस के तीखे तेवर नजर आए तो लोग खुद ही घरों से बाहर नहीं निकले. सुबह 9 बजे तक भले ही दूध की दुकानों को ढील मिली, लेकिन सख्ती इतनी थी कि कहीं भीड़ नहीं लगी. सुबह से की गई सख्ती का असर दिनभर रहा. यानि 48 घंटे के टोटल शटडाउन के पहला दिन प्रशासन लाेगाें काे घराें तक सीमित रखने में कामयाब रहा.

जानकारी के लिए बता दें की दोपहर में शहर की कई सड़कों पर कर्फ्यू सा नजारा था. यह सख्ती 22 मार्च के बाद पहली बार तब नजर आई है, जब इंदौर में कोरोना का कहर लगातार बरपा रहा है. वहां के हालात को देखकर ही यहां अब ज्यादा सख्ती कर दी गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल तक पूरा देश लॉकडाउन किया है, लेकिन ग्वालियर में सुबह 6 घंटे सामान्य दिनों की तरह बाजार खुल रहे थे, भीड़ उमड़ रही थी. जिससे कोरोना संक्रमण का खतरा शहर पर मंडरा रहा था, इसी के चलते बुधवार से इतनी सख्ती कर दी गई.

लोगों ​दिखा रहे बुरा रवैया, पूरे शहर को झेलना पड़ सकता है कोरोना का संक्रमण

Video: कोरोना संदिग्ध को देखते पहुंची डॉक्टरों की टीम, भीड़ ने पत्थर-डंडों से कर दिया हमला

बड़ी खबर शिमला में महंगा हुआ अनाज

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -