गुरप्रीत ने रचा इतिहास...........

Jun 01 2016 03:14 PM
गुरप्रीत ने रचा इतिहास...........

नई दिल्ली : भारतीय टीम के गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू यूरोपियन लीग में खेलने वाले देश के पहले फुटबॉलर बन गए हैं. वह नार्वे की टीम स्टाबीक एफ सी की ओर से खेलेंगे . संधू ने 2014 में स्टाबीक एफसी के साथ करार किया था, लेकिन इससे पहले उन्होंने नार्वे प्रीमियर लीग में कोई मुकाबला नहीं खेला था. हालांकि नार्वे कप में उन्होंने 5 मैच खेले थे. 

पंजाब के इस फुटबॉलर ने मैच खेलने के बाद ट्विटर पर लिखा कि यूरोप की शीर्ष डिवीजन लीग में खेलने वाला पहला भारतीय बनकर बहुत ही गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं.

स्टीफन कांस्टेनटाइन के टीम के कोच बनने के बाद से संधू पिछले एक वर्ष से भारतीय फुटबॉल टीम के शीर्ष गोलकीपर हैं. संधू राष्ट्रीय फुटबॉलटीम से लाओस में जुड़ेंगे, जहां उन्हें दो जून को 2019 एशियन कप क्वालिफायर का प्लेऑफ मुकाबला खेलना है.

संधू से पहले बंगाल के फुटबॉलरमोहम्मद सलीम ने 1936 में सेल्टिक एफ सी की ओर से स्कॉटलैंड प्रीमियर लीग में खेला था, लेकिन तब उसे प्रीमियर डिवीजन का दर्जा नहीं मिला था.

उनके बाद पूर्व भारतीय कप्तान बाईचुंग भूटिया 1999-2000 में थर्ड डिवीजन इंग्लिश लीग बूरी एफसी की ओर से, जबकि मौजूदा कप्तान सुनील छेत्री 2012 में स्पोर्टिंग लिस्बन की बी टीम की ओर से खेले.