जर्मनी के रिफ्युजी कैंप में फंसी गुरप्रीत औऱ उनकी बेटी को भारत वापस लाया गया

Feb 04 2016 12:43 PM
जर्मनी के रिफ्युजी कैंप में फंसी गुरप्रीत औऱ उनकी बेटी को भारत वापस लाया गया

नई दिल्ली : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की मदद के बाद जर्मनी के रिफ्युजी कैंप में फंसी गुरप्रीत और उनकी बेटी गुरुवार को भारत वापस लौंट आई। स्वराज ने जर्मनी में परेशानियों में फंसी गुरप्रीत औऱ उनकी 8 वर्षीय बेटी को मदद का आश्वासन दिया था। इसके बाद ही जर्मनी के दूतावास ने गुरप्रीत को देश वापस लाने की मुहिम शुरु की। उन्हें रिफ्युजी कैंप से निकालकर फ्रैंकफर्ट स्थित भारतीय दूतावास लाया गया। विदेश मंत्री ने बुधवार की सुबह ट्वीटर पर जानकारी दी कि दोनों मां-बेटी गुरुवार को भारत वापस आ जाएंगी।

साथ ही स्वराज दोनों मां-बेटी की एक तस्वीर भी साझा की, जिसमें दोनों जर्मनी स्थित दूतावास में दिख रहे है। एक औऱ ट्वीट में स्वराज ने लिखा कि गुरप्रीत और उनकी बेटी फ्रैंकफर्ट से एयर इंडिया के विमान संख्या AI120 से कल सुबह 9.35 बजे तक दिल्ली पहुंच जाएंगे।

गौरतलब है कि मंगलवार को गुरप्रीत ने भारत सरकार से गुहार लगाई थी कि उन्हें भारत बुलाया जाए। गुरप्रीत हरियाणा के फरीदाबाद के रहने वाली है। उन्हें उनके ससुराल वालों ने धोखे से जर्मनी भेज दिया था औऱ वहां उन्हें रिफ्युजी कैंप के हवाले कर दिया गया था।