लालच में आकर बन गए थे ईसाई, लेकिन ख़त्म नहीं हुई परेशानी, अब 21 परिवारों ने उठाया ये कदम

अहमदाबाद: गुजरात के वापी जिले में ईसाई धर्म अपना चुके 21 परिवारों ने एक बार पुनः सनातन धर्म में वापसी की है। धर्मपुर और कपराडा तहसील के इन 21 परिवारों ने विश्व हिंदू परिषद (VHP) द्वारा आयोजित किए गए एक कार्यक्रम के दौरान घर वापसी की है। इन सभी को प्रलोभन देकर ईसाई बनाया गया था।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ये परिवार लालच में आ गए थे। किन्तु वापी में बापा सीताराम आश्रम की अगुवाई वाले कार्यक्रम में इन्होंने एक बार फिर से सनातन धर्म को स्वीकार किया। इसको लेकर वापी के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) MLA कनुभाई देसाई ने कहा कि, 'विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित हिंदू जागरण मंच के कार्यक्रम में हिंदू समाज और वलसाड जिले से जुड़े कई मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया।' कनुभाई देसाई ने यह भी कहा कि उन्होंने जागरूकता फैलाने के लिए सरकार द्वारा शुरू किए गए जबरन धर्मांतरण विरोधी कानून पर भी चर्चा की है।

घर वापसी करने वाले एक शख्स ने मीडिया से बातचीत में स्वीकार किया है कि दूसरे धार्मिक संगठनों ने उसकी समस्याओं को दूर करने का लालच देकर धर्मान्तरण करवाया था। उसने कहा कि, 'ईसाई बने हुए हमें पाँच साल हो गए थे, किन्तु हमारी मुश्किलें बनी रहीं। हमें नहीं पता था कि कौन सा धर्म अच्छा है या बुरा। हमने लालच के चलते ईसाई धर्म स्वीकार कर लिया था।'

एराबेली दयाकर राव बोले- "रामप्पा मंदिर की लोकप्रियता दुनिया भर में..."

लेडी डॉक्टर को 13 माह में 3 बार हुआ कोरोना, ले चुकी हैं वैक्सीन की दोनों डोज़

सोने की कीमत के लगातार दूसरे दिन आई गिरावट, जानिए क्या है आज का भाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -