एक दिन के लिए अहमदाबाद की कलेक्टर बनी ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित फ्लोरा

अहमदाबाद: गुजरात के अहमदाबाद में बीते शनिवार को 11 साल की फ्लोरा अपूर्व असोडिया नाम की बच्ची को एक दिन के लिए कलेक्टर की कुर्सी पर बैठाया गया। आप सभी को बता दें कि एक दिन के लिए कलेक्टर की कुर्सी पर बैठी फ्लोरा अपूर्व असोडिया ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित है। जी दरअसल फ़्लोरा अहमदाबाद की रहने वाली हैं और वह एक दिन के लिए कलेक्टर बनना चाहती थी। अब उसकी चाहत 18 सितंबर को पूरी हो गई। मिली जानकारी के अनुसार अहमदाबाद की रहने वाली फ्लोरा अपूर्व असोडिया सातवीं क्लास की छात्रा है। फ्लोरा का कहना है कि, 'बड़ी होकर कलेक्टर बनना चाहती हूं।'

इसी के साथ आगे उन्होंने कहा कि, 'पिछले कुछ महीनों से बीमार चल रही हूं और मेरा इलाज चल रहा है। खराब स्वास्थ्य के कारण मेरे मन में ये खयाल आया कि क्या मैं कलेक्टर बन भी पाऊंगी?' वहीँ आगे फ्लोरा अपूर्व असोडिया ने कहा कि, 'मेरे मन में तरह-तरह के ख्याल आ रहे थे कि इसी बीच मेरे पिताजी को मेक अ विस फाउंडेशन के बारे में जानकारी मिली।' इसके अलावा उन्होंने यह भी बताया कि, 'मेरे सपने को साकार करने के लिए पिताजी ने संगठन से संपर्क किया। संगठन के प्रयास से बात कलक्टर साहब तक पहुंची और मेरी तबीयत को देखते हुए उन्होंने भी इसमें काफी रुचि दिखाई।'

आगे फ्लोरा ने कहा कि, 'कलेक्टर साहब ने इस दिशा में तेजी से निर्णय लिए और मेरे घर भी आकर मुलाकात की। मुझे बहुत खुशी है कि सभी के सहयोग से आज मेरी मनोकामना पूरी हो गई।' इसी के साथ ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित फ्लोरा अपूर्व असोडिया ने कहा कि, 'मुझे लगता है कि निश्चित रूप से इस बीमारी से लड़ूंगी और जीतूंगी। मैं एक दिन कलक्टर जरूर बनूंगी।'

कोविड -19 महामारी के कारण अर्थव्यवस्था बुरी तरह से बाधित हुई: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

नवजोत सिंह सिद्धू ने बतौर मुख्यमंत्री आगे बढ़ाया अपना नाम

साउथ के इस मशहूर सुपरस्टार को मिला बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -