आज हम चलते हैं इतिहास से भी पुराने शहर के सफर पर

आइए आज हम आपको इतिहास से भी पुराने शहर सबसे पहले हम बात करते यही बनारस के वर्ल्ड फेमस घाटों की - बनारस में कुल 100 घाट है जिनमे दसवासमेत घाट की गंगा आरती आपने जरूर देखी ही होगी, या आपको देखनी ही चाहिए. हज़ारो दीपों की रौशनी में गूंजते हुए पवित्र मन्त्र और बहती हुई गंगा एक अलग ही अनुभव देती है. यहाँ आपको परमात्मा के होने का अनुभव भी होगा.

तुलसी घाट - यहाँ पर एक तुलसी घाट भी है जहां तुलसी दास जी ने महानग्रंथ रामचरित मानस की रचना की थी.

केदार घाट - केदार घाट की सुंदरता बहुत अच्छी है कहते है कि यहाँ पंचगंगा नहान का अस्सी घाट के बाद दूसरा घाट केदारघाट ही है. इस घाट पर दक्षिण भारतीयों की भीड़ रहती है.

अस्सी घाट - बिलचूक के पास स्थित यह घाट यात्रियों के लिए बहुत ही रोमांचक है यहाँ पर आप बोट राइड देख सकते है साथ ही उसका आनंद भी उठा सकते हैं. यहाँ बोट राइड सुबह 5:30 से रात 8 बजे तक होती हैं. इसी के साथ यहाँ पर हॉट एयर बलून की सुविधा दी गई है जिससे आप यहाँ पर एरियल व्यू का मजा भी ले सकते है. यहाँ कैफ़े भी है और साथ ही लोकल फ़ूड भी मिलते है.

बनारस हिन्द यूनिवर्सिटी - पंडित मदन मोहन मालवीय जी ने 4 फरवरी साल 1916 में इस महँ विश्वविद्यालय का निर्माण किया था और इसके उद्घाटन समारोह में श्रीमती एनी बेसेंट, महात्मा गन्दी, रविंद्र नाथ टैगोर भी आए थे. यहाँ घूमते हुए आप यहाँ की गौरवशाली इतिहास को महसूस कर सकते है. आगे और जानकारी के लिए देखे वीडियो.

ज़मीन के नीचे मौजूद हैं ये खूबसूरत शहर

बेकिंग सोडा दूर कर सकता है आपके होंठो का कालापन

बालों को खूबसूरत और बाउंसी बनाता है बेबी पाउडर