गिलानी के वीज़ा मसले पर उलझन में पड़ी सरकार

श्रीनगर : जम्मू- कश्मीर राज्य में एक बार फिर अलगाववादियों की सक्रियता के कारण मौजूदा पीडीपी- भाजपा गठबंधन सरकार पसोपेश में नज़र आ रही है। दरअसल अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी विदेश जाना चाहते हैं जिसके लिए उन्हें वीज़ा की अनुमति चाहिए। हालांकि भारत सरकार उन्हें अनुमति देने का विरोध कर रही है लेकिन पीडीपी का मत है कि उन्हें पासपोर्ट दिया जाना चाहिए। पीडीपी प्रमुख और सांसद महबूबा मुफ्ती ने कहा कि भारत जहां रिश्ते धर्म का हिस्सा हैं, यहां बेटियों को सम्मान दिया जाता है यही नहीं अलग - अलग तरह के रिश्तों के लिए अलग - अलग त्यौहार मनाए जाने के रिवाज़ हैं।

दूसरी ओर गिलानी अपनी बेटी से मिलना चाहिए। जिसके लिए उन्हें वीज़ा दिया जाना चाहिए। दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी की कश्मीर इकाई ने यह भी कहा है कि गिलानी को देश से बाहर यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जा सकती। इसके लिए उन्हें पाकिस्तान के समर्थन में बोलना बंद करना होगा। मानवाधिकार संगठन कोएलिशन आॅफ सिविल सोसायटीज़ ने कहा कि भारत सरकार ने जम्मू - कश्मीर में 40000 लोगों की निशानदेही की और उन्हें यात्रा करने से रोक दिया गया है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -