यहाँ नहीं होती रात के समय शादी, हैरान कर देने वाली है वजह

हर कोई रात में शादी करता है. आज तक जितनी शादी देखी है उनमे से अधिकतर शादी रात में ही होती है. आज हर कोई रात में शादी करना उचित समझता है। रात के समय ही मुहूर्त निकलते हैं और इसी समय सभी शादी करते हैं. ऐसे में कभी-कभी ही ऐसा होता है जब शादी दिन में हो। शादी की बात करे तो लोग अपनी शान-शौकत को दिखाने के लिए शादी में जमकर पैसा खर्च करते है और खूब पैसा उड़ाते है। लेकिन आज हम ऐसी जगह के बारे में बताएँगे कि आप भी सोचेंगे कि यहां रात में शादी क्यों नहीं होती. रात में शादी में ना करने के अजीब ही कारण है. आइये आपको बता देते हैं. 

अक्सर रात में की जाती है शादी

ये तो आप जानते ही हैं किए शादी में लोग अपने शान-शौकत को बचाने के लिए उधार लेने से भी नहीं पीछे रहते। ऐसे में आज हम एक ऐसी जगह के बारे में बताने जहाँ फ़ालतू की शान शौकत ना दिखाते हुए और पैसो को बचाते हुए शादी रात की जगह दिन में की जाती है। हम बात कर रहे है गाजियाबाद जिले के गाँव अटौर की, जहाँ पर शादी के दौरान होने वाले खर्चों को बचाने के लिए शादी रात की बजाय दिन में करवाते है। हालाँकि तरीका अच्छा है क्योंकि शादी में फ़िज़ूल खर्ची कुछ ज्यादा ही होती है.  

वजह है चौंकाने वाली

दरअसल, अटौर में कई सालों से यह परम्परा है कि शादी दिन में ही हो ताकि फिजूलखर्च ना हो और पैसा बचे। आप सभी इस बात से वाकिफ होंगे कि शादी रात में होने पर लाइट, जेनरेटर में पैसे खर्च होते है, उन्ही सबसे बचाव के लिए इस गाँव में दिन में शादी करवाई जाती हैं। इस गाँव की शादी में बारात सुबह 10 बजे आती है और शाम तक दुल्हन विदा हो जाती है।

इस मंदिर में होती है हर कामना पूरी, बाद बदले में चढ़ाना होगी ये चीज़

ये है एडल्ट बेबी, जो 23 साल की उम्र में भी पहनती है डायपर

इस गांव में चाय के लिए तरस जायेंगे आप, जानिए हैरान कर देने वाली वजह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -