ग़लत पता नहीं चलता

ग़लत पता नहीं चलता

़्वाब है या हकीकत पता नहीं चलता ,
होती है क्या इज़्ज़त पता नहीं चलता ,,
हो जाए अगर मोहब्बत तो मोहब्बत में ,
क्या सही है क्या ग़लत पता नहीं चलता ,,‪