केरल ट्रिपल ब्लास्ट मामले में चौथी मौत, 61 वर्षीय महिला ने अस्पताल में तोड़ा दम
केरल ट्रिपल ब्लास्ट मामले में चौथी मौत, 61 वर्षीय महिला ने अस्पताल में तोड़ा दम
Share:

कोच्ची: एक सप्ताह पहले केरल में एक ईसाई धार्मिक सभा में हुए विस्फोटों में 61 वर्षीय एक महिला की मौत के बाद मरने वालों की संख्या चार हो गई है। अस्पताल के एक प्रवक्ता ने कहा कि पीड़ित की पहचान कलामासेरी के मोली जॉय के रूप में हुई और सोमवार तड़के एक निजी अस्पताल में उसकी मौत हो गई। 

रिपोर्ट के अनुसार, 29 अक्टूबर को एक धार्मिक सभा में हुए विस्फोट में वह 70 प्रतिशत से अधिक जल गई थीं और वेंटिलेटर सपोर्ट पर थीं।  उन्होंने कहा कि, महिला का इलाज शुरू में एक अन्य निजी अस्पताल में किया गया और बाद में एर्नाकुलम मेडिकल सेंटर में स्थानांतरित कर दिया गया। एर्नाकुलम जिले के मलयट्टूर की लिबिना नाम की 12 वर्षीय लड़की ने भी 30 अक्टूबर को कलामासेरी सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में दम तोड़ दिया था। घटना वाले दिन सभा में शामिल दो महिलाओं की हत्या कर दी गई।

केरल के इस बंदरगाह शहर के पास कलामासेरी में अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र में हुए कई विस्फोटों के दौरान 50 से अधिक लोग घायल हो गए, जिनमें से कुछ गंभीर रूप से घायल हो गए। वे यहोवा के साक्षियों के अनुयायियों द्वारा आयोजित तीन दिवसीय प्रार्थना सभा के अंतिम दिन के लिए एकत्र हुए थे। घटना के कुछ घंटों बाद, यहोवा के साक्षियों का एक अलग सदस्य होने का दावा करने वाले एक व्यक्ति ने त्रिशूर जिले में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया, और दावा किया कि उसने कई विस्फोटों को अंजाम दिया। बाद में पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी दर्ज की है। 

केरल में ब्लास्ट:-

केरल के कलामासेरी में एक ईसाई समूह के कन्वेंशन सेंटर में रविवार (29 नवंबर) सुबह हुए सिलसिलेवार विस्फोटों में तीन लोगों की मौत हो गई थी और 52 अन्य घायल हो गए थे। प्रारंभिक जांच से पता चला था कि कलामासेरी विस्फोट एक इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) के कारण हुआ था। डोमिनिक मार्टिन नाम के एक व्यक्ति ने विस्फोटों की जिम्मेदारी ली और त्रिशूर में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। रविवार सुबह 9 बजे के आसपास केरल में ये ब्लास्ट हुए थे, और दोपहर 12 बजे सीएम विजयन दिल्ली में गाज़ा और फिलिस्तीनियों को बचाने पर भाषण देते हुए नज़र आए थे, जिसको लेकर उनकी काफी आलोचना भी हुई थी।

हिंदुत्व और यहूदीवाद को उखाड़ फेंको:-

बता दें कि, केरल में ब्लास्ट से ठीक एक दिन पहले ही गाज़ा के समर्थन में एक रैली हुई थी। इस फ़िलिस्तीन समर्थक रैली का आयोजन केरल में जमात-इस्लामी की युवा शाखा, सॉलिडैरिटी यूथ मूवमेंट द्वारा किया गया था। फिलिस्तीनी आतंकी संगठन हमास के पूर्व प्रमुख खालिद मशाल ने सभा को ऑनलाइन अरबी भाषा में संबोधित किया। हमास के आतंकी को सुनने के लिए बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग वहां मौजूद थे। इस विवादित कार्यक्रम के फुटेज में एक पोस्टर प्रदर्शित किया गया था, जिस पर लिखा था कि, "बुलडोजर हिंदुत्व और रंगभेदी यहूदीवाद को उखाड़ फेंको।" हालाँकि, ब्लास्ट और इस रैली का कोई कनेक्शन तो सामने नहीं आया है, लेकिन हमास के आतंकी को मंच देने के लिए जमात ए इस्लामी विवादों में जरूर है, वहीं केरल पुलिस भी आलोचना का सामना कर रही है, जिसके सामने ये रैली हुई। 

3 दिवसीय दौरे पर उत्तराखंड पहुंचे राहुल गांधी, केदारनाथ में श्रद्धालुओं को चाय पिलाते आए नज़र, Video

होटल के कमरे में 2 मुस्लिम लड़को के साथ पकड़ी गई हिन्दू लड़की, ‘बजरंग दल’ ने की जमकर पिटाई और फिर...

'मुखबिरी की सजा मौत..', 10 महीनों में नक्सलियों ने 27 ग्रामीणों को मार डाला, क्या छत्तीसगढ़ में 'नागरिक सुरक्षा' चुनावी मुद्दा नहीं ?

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -