AAP को विदेशों से मिली करोड़ों की अवैध फंडिंग, ED ने गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट
AAP को विदेशों से मिली करोड़ों की अवैध फंडिंग, ED ने गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट
Share:

नई दिल्ली: AAP अब बुरी तरह फंसती दिखाई दे रही है एक ओर पार्टी कथित शराब घोटाले में फंसती दिखाई दे रही है तो दूसरी ओर पार्टी विदेश से चंदा लेने के मामले में फंसती नजर आ रही है। प्रवर्तन निदेशालय ने AAP पर अमेरिका-कनाडा सहित कई देशों से फंडिंग लेने का आरोप लगते हुए गृह मंत्रालय को एक डोजियर सौंपा है। इस डोजियर में पार्टी पर 2014 से 2022 के बीच 7.08 करोड़ रुपये की विदेशी फंडिंग लेने का इल्जाम लगा है।

प्रवर्तन निदेशालय ने गृह मंत्रालय को दिए डोजियर में बताया है कि AAP को अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, कुवैत और ओमान जैसे कई देशो से फंडिंग प्राप्त हुई है। साथ ही AAP ने विदेशी फंडिंग के मामले में फंसने से बचने के लिए अकाउंट बुक में डोनर्स की असली पहचान को भी छिपाया है।

वहीं, AAP ने इन आरोपों को खारिज करते हुए इसे पार्टी को बदनाम करने की सियासी षड्यंत्र बताया है। दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि शराब घोटाले और स्वाति मालीवाल प्रकरण फेल होने के पश्चात् अब भाजपा ये नया मामला लाई है। कल एक और मामला आएगा। इस से साफ जाहिर है भाजपा दिल्ली एवं पंजाब की सभी बीस सीट हार रही है। ये सब चलने वाला नहीं है। मोदी जी से जनता बहुत नाराज है। ये प्रवर्तन निदेशालय नहीं बीजेपी की कार्यवाही है। ये कई वर्ष पुराना मामला, जिस पर सारे जवाब ईडी, सीबीआई, गृह मंत्रालय और चुनाव आयोग को दिए जा चुके हैं। ये फिर से आप को बदनाम करने का षड्यंत्र है। हर चुनाव से पहले बीजेपी ये सब करती है। अगले चार दिन में कई ऐसे गलत आरोप लगाए जाएंगे। मोदी जी मुख्यमंत्री केजरीवाल से डरे हुए हैं।

AAP पर क्या हैं आरोप ?
फॉरेन कंट्रीब्यूशन रेगुलेशन एक्ट (FCRA) की धारा 3 के उल्लंघन का आरोप – AAP पर फॉरेन कंट्रीब्यूशन रेगुलेशन एक्ट (FCRA) की धारा 3 के उल्लंघन का आरोप है। ये धारा सियासी पार्टियों की विदेशी फंडिंग को प्रतिबंधित करती है। इस कानून की धारा 3 में बताया गया है कि चुनाव लड़ने वाला उम्मीदवार, किसी भी सदन का कोई सदस्य, राजनीतिक पार्टी या उसका कोई पदाधिकार या राजनीतिक संगठन विदेशी फंडिंग नहीं ले सकता।
जनप्रतिनिधि कानून की धारा 29B का उल्लंघन का आरोप – AAP पर जनप्रतिनिधि कानून की धारा 29B का उल्लंघन करने का आरोप भी है। इस कानून की धारा 29B का उल्लंघन करने का आरोप भी है। इस कानून की धारा 29B के अनुसार, कोई भी राजनीतिक पार्टी किसी भी विदेशी सोर्स से कोई फंड नहीं ले सकता। चूंकि, FCRA से जुड़े मामलों की जांच CBI करती है। इसलिए अब गृह मंत्रालय CBI को FCRA के कथित उल्लंघन पर AAP के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दे सकता है।
जानकारी के अनुसार, AAP की फंडिंग को लेकर मामला अभी दिल्ली उच्च न्यायालय में चल रहा है। गृह मंत्रालय के मुताबिक, राजनीतिक पार्टियों की विदेशी फंडिंग को लेकर उच्च न्यायालय में 3 हलफनामे दायर किए गए हैं। इन हलफनामों की कॉपी चुनाव आयोग को भी भेजी गई है। इसी प्रकार AAP की फंडिंग से जुड़े मामले में भी एक हलफनामा उच्च न्यायालय में दाखिल किया गया है।

'पति ने नींद की गोली खिलाकर काट दिये बाल और...', MP में नई नवेली दुल्हन को किया टॉर्चर

MP में हुई BA के छात्र की मौत पर हुआ बड़ा खुलासा, सामने आई ये वजह

बिहार में चुनाव के बाद हिंसा, दो पक्षों में हुई गोलीबारी

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -