लॉकडाउन: दिल्ली में फंस गया था पांच वर्षीय विहान, अब अकेले फ्लाइट से पहुंचा बैंगलोर

बेंगलुरू: देश में लगभग दो महीने बाद घरेलू उड़ान सेवाएं बहाल हो गई हैं। इस बीच एक 5 साल का बच्चा भी अकेला दिल्ली से बेंगलुरू पहुंचा। यहां बेंगलुरू एयरपोर्ट पर बच्चे की मां उसे रिसीव करने के लिए पहुंची। दरअसल पांच वर्षीय विहान शर्मा दिल्ली में अपने दादा-दादी के घर आया हुआ था और लॉकडाउन के कारण वह यहीं फंस गया। वह विशेष श्रेणी की यात्रा करते हुए 3 माह बाद अपनी माता के पास बेंगलुरू लौटा है। 

बड़ी बात तो ये है कि 5 साल का विहान अकेले ही दिल्ली से बेंगलुरू तक पहुंचा है। बता दें सोमवार सुबह 9 बजे तक, 5 फ्लाइट बेंगलुरू के केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचीं, जबकि 17 फ्लाइट रवाना हुईं और 9 फ्लाइट निरस्त कर दी गईं। लखनऊ से पहली फ्लाइट सोमवार सुबह अहमदाबाद के लिए निकली हैं। बेंगलुरू से रांची के लिए उड़ान भरने वाली एक अन्य फ्लाइट ने 173 मुसाफिरों और तीन नवजात के साथ सुबह 5.15 बजे उड़ान भरी।

हालांकि महाराष्ट्र ने रविवार रात को मुंबई से सीमित संख्या में उड़ान के परिचालन को अनुमति दे दी। कोरोना वायरस संकट के बीच सरकार ने 25 विमानों को जाने और 25 को आने को इजाजत दी है। अम्फान चक्रवात से भारी नुकसान झेल रहे पश्चिम बंगाल ने कहा है कि वह विमान परिचालन 28 मई से आरंभ करेगा।

दो महीने बाद शुरू हुई उड़ानें, कई फ्लाइट्स हुई कैंसिल, परेशान हुए यात्री

क्या श्रम कानूनों में बदलाव ला पाएंगी उघोग जगत में गति ?

देश में नौकरी को लेकर इतने प्रतिशत लोग भटक रहे बेरोजगार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -