टीकाकरण नहीं तो वेतन नहीं, यहाँ सरकारी कर्मचारियों के लिए जारी हुआ नया फ़रमान

फिरोजाबाद: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटन के लिए उत्तर प्रदेश में भी टीकाकारण अभियान युद्धस्तर पर चलाया जा रहा है। हालांकि बड़ी तादाद में लोग अभी भी कोराना वायरस टीकाकरण को लेकर भ्रम में और लगवाने से बच रहे हैं। ऐसे में फिराेजाबाद में जिला प्रशासन ने लोगों का तेजी से कोरोना वायरस टीकाकरण कराने के लिए एक बड़ा निर्णय लिया है। 

एक अधिकारी ने बुधवार को यहां जानकारी देते हुए बताया है कि कोरोना टीकाकरण को प्रोत्साहित करने के लिए जिला प्रशासन ने आदेश दिया है कि सरकारी कर्मचारियों को तब तक सैलरी नहीं मिलेगी, जब तक कि उनका टीकाकरण नहीं हो जाता है। मुख्य विकास अधिकारी चरचित गौड़ ने जानकारी दी है कि डीएम चंद्र विजय सिंह ने टीकाकरण नहीं तो वेतन नहीं का मौखिक आदेश जारी किया है। गौर ने कहा कि आदेश के मुताबिक, अगर कोई कर्मचारी कोविड वैक्सीन नहीं लेता है, तो विभाग कार्रवाई शुरू करेगा और मई महीने के लिए उनकी सैलरी रोक देगा। 

उन्होंने कहा कि जिला कोषाध्यक्ष एवं अन्य विभागीय प्रमुखों को आदेश को लागू करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं और सूची बनाकर टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। CDO ने कहा कि कर्मचारी इस डर से अब खुद को कोरोना वायरस वैक्सीन लगवाने की कोशिश कर रहे हैं कि कहीं उनका वेतन रुक न जाए।

सभी मुख्यमंत्रियों को ओडिशा CM ने लिखा पत्र, कहा- केंद्र के जरिए ही हो वैक्सीन की खरीदारी

जल्द ही वैक्सीनेशन की बढ़ेगी रफ़्तार, विदेशी कंपनियों को भारत में मिली ट्रायल की छूट

'जब कोवाक्सीन नहीं थी, तो क्यों खोले टीकाकरण केंद्र..', केजरीवाल सरकार को दिल्ली HC ने लताड़ा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -