फ्लॉलेस स्किन पाने के लिए अपनाने होंगे कुछ ये टिप्स

हर कोई चमकती और निर्दोष त्वचा चाहता है. लेकिन कई बार ऐसा हो नहीं पाटा. बल्कि धुप, धूल के चलते चेहरा बिगड़ ही जाता है. मुख्य समस्याएं शुष्क त्वचा, पिंपल्स और कई अन्य हैं. पिंपल्स सबसे आम त्वचा संबंधित समस्याओं में से एक है. त्वचा की सतह पर पिंपल्स होने पर आप कई सावधानी पूर्वक उपाय कर सकते हैं. इससे आपकी फ्लॉस भी दिखने लगते हैं.  लेकिन त्वचा के नीचे पिंपल्स दर्द और बेचैनी का कारण बनते हैं. यदि आप त्वचा के नीचे पिंपल्स का अनुभव भी कर रहे हैं तो कुछ आसान टिप्स हैं. तो आइये जानते हैं उन सुझाव के बारे में.

सेंधा नमक
सेंधा नमक त्वचा के अंदर के पिंपल्स का इलाज करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है. सेंधा नमक में मैग्नीशियम होता है जिसे एंटी-इंफ्लेमेट्री एजेंट माना जाता है. इंफ्लेमेट्री एजेंट के कारण, सेंधा नमक पिंपल्स के इलाज के लिए फायदेमंद होता है. त्वचा के अंदर के पिंपल्स का इलाज करने के लिए, सेंधा नमक को गर्म पानी में मिलाएं और फिर कपड़ें को उसमें भिगोएं. अब अपने पिंपल्स पर उस कपड़े को रखें. बेहतर परिणाम के लिए इस प्रक्रिया को दोहराएं. इस प्रक्रिया को दिन में 3 से 4 बार दोहराएं.

एसेंशियल ऑयल
त्वचा के अंदर के पिंपल्स के लिए टी-ट्री ऑयल और लावेंडर ऑयल जैसे एसेंशियल ऑयल लाभकारी होते हैं. ऊतक पर थोड़ी मात्रा में तेल डालें या फिर सीधे भी लागू कर सकते हैं.

सेब का सिरका
त्वचा के अंदर के पिंपल्स की समस्या को खत्म करने के लिए सेब का सिरका भी फायदेमंद होता है. लालीपन को कम करने के लिए सीधे पिंपल्स पर सेब का सिरका लागू करें. हमेशा सिरका की एक छोटी मात्रा का उपयोग करें क्योंकि यह एसिडिक होता है.

हरी चाय
त्वचा के अंदर के पिंपल्स को कम करने के लिए ग्रीन-टी भी फायदेमंद होता है. त्वचा के अंदर के पिंपल्स के लिए ग्रीन-टी का उपयोग करने के लिए, कुछ ग्रीन-टी बनाएं और इसे फ्रीज करें. अब सीधे इसे पिंपल्स पर लागू करें. इसका सुखद प्रभाव पड़ता है और लालीपन को कम करता है.

ड्राई स्किन के लिए अलग होती है मेकअप टिप्स

बेसन और दूध से पाएं तैलीय त्वचा से छुटकारा

हेयर रिबॉन्डिंग के बालों का ऐसे रखें ध्यान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -