शिक्षा से हर कार्य संभव, इससे बड़ा कोई हथियार नही

Dec 05 2017 04:05 PM
शिक्षा से हर कार्य संभव, इससे बड़ा कोई हथियार नही

देश में शिक्षा का स्तर जिस तेजी से बढ़ रह है. उसमे केवल सरकार या संगठनो का ही योगदान नहीं है. बल्कि देश का हर व्यक्ति विशेष इसके लिए प्रयासरत है. कल सोमवार को करगली महिला मंडल में मोटिवेशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम का आयोजन नई सोच, नई पहल जनकल्याण महिला समिति द्वारा किया गया था. इसमें मुख्य अतिथि रहे बीएड कॉलेज दुग्दा के निदेशक शंकर स्वर्णकार ने बताया कि, शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए बच्चों को अपनी सोच में परिवर्तन लाने की अावश्यकता है. 

उन्होंने आगे बताया कि, सरकारी विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चे भी बेहतर शिक्षा प्राप्त कर बेहतर कर सकते हैं. सरकार सरकारी विद्यालयों में भी शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं चला रही है. शिक्षा ही सबसे शक्तिशाली हथियार है, जिससे समाज में बदलाव लाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि शिक्षा प्राप्त करना सभी का जन्मसिद्ध अधिकार है. उच्च शिक्षा प्राप्त करने से बच्चों को कोई नहीं राेक सकता है. बस जरूरत है उनमें पढ़ाई के प्रति जज्बे और हौसले की. 

शोमुवा के सुबोध सिंह पवार ने कहा कि, शिक्षा से ही अच्छे बुरे में फर्क करने की सीख मिलती है. यह हमें सभी संदेहों और अंधविश्वासों से मुक्त करने के साथ ही समाज को प्रभावित करने की राह देते हुए सभी बुराईयों को हटाने में मदद करती है. उन्होंने आगे कहा कि जब तक बच्चे शिक्षा के प्रति स्वयं परिश्रम नहीं करेंगे तब तक वे शिक्षित नहीं हो पाएंगे.

ये भी पढ़ें-

इन बातों पर गौर करें, जल्द मिलेगी नौकरी

जानिए, क्या कहता है 4 दिसंबर का इतिहास

जॉब और करियर से जुडी हर ख़बर न्यूज़ ट्रैक पर सिर्फ एक क्लिक में, पढिये कैसे करे जॉब पाने के लिए तैयारी और बहुत कुछ.